नेपाल में बढ़ा चीन का दखल, स्कूलों में पढ़ाई जाएगी 'मेंडरिन' भाषा

News18Hindi
Updated: June 15, 2019, 6:11 PM IST
नेपाल में बढ़ा चीन का दखल, स्कूलों में पढ़ाई जाएगी 'मेंडरिन' भाषा
नेपाल के स्कूलों में पढ़ाई जाएगी चीनी भाषा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

‘द हिमालयन टाइम्स’ की खबर के मुताबिक, नेपाल के कई स्कूलों ने छात्रों के लिए चीनी भाषा मंडारिन सीखना अनिवार्य कर दिया है.

  • Share this:
चीन का दखल अब नेपाल में बढ़ने लगा है. नेपाल के कई स्कूलों ने चीनी (मेंडरिन) भाषा सीखना अनिवार्य कर दिया है. चीनी सरकार के प्रस्ताव के मद्देनजर नेपाल के कई स्कूलों में अब इस भाषा को सिखाया जाएगा. 10 प्रसिद्ध निजी स्कूलों के प्रधानाध्यापकों और कर्मियों ने 'द हिमालयन टाइम्स' को बताया कि उनके संस्थान में मैंडरिन सीखना अनिवार्य कर दिया गया है.

‘द हिमालयन टाइम्स’ की खबर के मुताबिक, नेपाल के कई स्कूलों ने छात्रों के लिए चीनी भाषा मंडारिन सीखना अनिवार्य कर दिया है. क्योंकि चीन की सरकार ने मंडारिन पढ़ाने वाले शिक्षकों के वेतन का भुगतान करने की पेशकश ही है.

विदेशी भाषा नहीं हो सकती अनिवार्य

नेपाल में स्कूल का पाठ्यक्रम तैयार करने वाली इकाई करिकुलम डेवलपमेंट सेंटर के दिशानिर्देश के अनुसार नेपाल के स्कूल छात्रों को विदेशी भाषा पढ़ा सकते हैं, लेकिन वह इसे अनिवार्य नहीं बना सकते हैं.

नेपाल में चीन का बढ़ा दखल

बता दें कि चीन ने यह कदम ऐसे समय में उठाया, जब नेपाल में उसका दखल बढ़ता जा रहा है. खास तौर पर चीन की महत्वाकांक्षी बेल्ट और रोड परियोजना की पृष्ठभूमि में. भारत इस परियोजना का विरोध कर रहा है. क्योंकि इसके तहत आने वाला चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से होकर गुजरेगा.

ये भी पढ़ें-
Loading...

FB लाइव के दौरान 'बिल्ली' बन गए पाकिस्तानी मंत्री, Social Media पर उड़ा मज़ाक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नेपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 15, 2019, 6:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...