होम /न्यूज /दुनिया /नेपाल के पीएम देउबा मंत्रिमंडल का विस्तार: 17 मंत्रियों को शामिल किया गया

नेपाल के पीएम देउबा मंत्रिमंडल का विस्तार: 17 मंत्रियों को शामिल किया गया

नेपाल के पीएम शेर बहादुर देउबा (फाइल फोटो)

नेपाल के पीएम शेर बहादुर देउबा (फाइल फोटो)

पदभार ग्रहण करने के तीन महीने बाद नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा (Prime Minister Sher Bahadur Deuba) ने ...अधिक पढ़ें

    काठमांडू. पदभार ग्रहण करने के तीन महीने बाद नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा (Prime Minister Sher Bahadur Deuba) ने शुक्रवार को मंत्रिमंडल का विस्तार करते हुए 17 मंत्रियों और दो केंद्रीय राज्य मंत्रियों को शामिल किया. इसके साथ ही सरकार में मंत्रियों की संख्या बढ़कर 25 हो गई जिसमें 22 मंत्री और तीन राज्य मंत्री शामिल हैं. इससे पहले प्रधानमंत्री और एक राज्य मंत्री को मिलाकर मंत्रिमंडल में केवल छह सदस्य थे. प्रधानमंत्री स्वयं 17 मंत्रालयों का प्रभार संभाल रहे थे.

    प्रधानमंत्री देउबा पांच दलीय सत्तारूढ़ गठबंधन के बीच सत्ता साझेदारी को लेकर लंबे समय से जारी खींचतान के चलते मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं कर पा रहे थे. मंत्रिमंडल में नवगठित नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी- एकीकृत समाजवादी से पांच मंत्री बनाए गए हैं जबकि जनता सोशलिस्ट पार्टी से चार मंत्री और एक राज्य मंत्री बनाया गया है. इसी तरह, पुष्प कमल दहल के नेतृत्व वाली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी- माओवादी केंद्र से पांच मंत्री और एक राज्य मंत्री को शामिल किया गया है. वहीं, मंत्रिमंडल में देउबा के नेतृत्व वाली नेपाली कांग्रेस के आठ मंत्री और एक राज्य मंत्री हैं.

    ये भी पढ़ें : मारिया रेसा, दामित्री मुरातोव को शांति के लिए नोबेल प्राइज, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा के प्रयास के लिए मिला सम्मान

    ये भी पढ़ेें :   TIME के कवर पर जुकरबर्ग, मैगजीन ने लोगों से पूछा- क्या डिलीट कर दें फेसबुक?

    नेपाल में सत्‍ता संकट के बीच सर्वोच्च न्यायालय के दखल के बाद जुलाई 2021 में शेर बहादुर देउबा को प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया. 75 वर्षीय देउबा इससे पहले 4 बार देश के सर्वोच्च पद पर रह चुके हैं. 13 जून 1946 को पश्चिमी नेपाल के दादेलधुरा जिले एक गांव में जन्मे देउबा ने कॉलेज के समय से ही राजनीति में दखल शुरू कर दिया. साठ के दशक में वे काफी सक्रिय हो चुके थे और दशक के अंत तक काठमांडू की सुदूर-पश्चिमी छात्र समिति के लीडर बन चुके थे.

    बता दें कि ये छात्र समिति मुख्यधारा की राजनीति में काफी बड़ा नाम मानी जाती है, जिसकी मदद नेता भी लेते हैं. सबसे पहले साल 1995 में सुप्रीम कोर्ट ने ही उन्हें प्रधानमंत्री नियुक्त किया था. तब भी नेपाल खासी राजनैतिक उथलपुथल का शिकार था और संसद भंग करने की कोशिश हो रही थी. पहली बार 1995 से 1997 तक पीएम रहने के बाद वे दोबारा साल 2001 में लौटे, जब वे एक साल ही पीएम रह सके. तीसरी बार जून 2004- फरवरी 2005 और चौथी बार जून 2017- फरवरी 2018 तक देउबा नेपाल के पीएम रहे.

    Tags: Nepal, Prime Minister Sher Bahadur Deuba

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें