कट्टर दुश्मन ईरान को नेतन्याहू का यह ख़ास तोहफा

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि फारसी भाषा में एक खास वेबसाइट तैयार किया जाएगा. जहां जल संसाधन प्रबंधन, जल संरक्षण और ईरानियों के लिए सिंचाई के बारे में जानकारी दी जाएगी.

News18Hindi
Updated: June 12, 2018, 5:17 PM IST
News18Hindi
Updated: June 12, 2018, 5:17 PM IST
इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में उन्होंने सूखे से परेशान ईरान को मदद की पेशकश की है. आपको बता दें कि ईरान इन दिनों जबरदस्त सूखे से परेशान है और देश की आधी आबादी पानी की कमी से जूझ रहा है.

प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने घोषणा की है कि फारसी भाषा में एक खास वेबसाइट शुरू की जाएगी. जहां जल संसाधन प्रबंधन, जल संरक्षण और ईरानियों के लिए सिंचाई के बारे में जानकारी दी जाएगी.

बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा, "आज मैं ईरान को अभूतपूर्व प्रस्ताव पेश करने जा रहा हूं. ये पानी से जुड़ा है. ईरानी लोग एक क्रूर और अत्याचारी शासन के पीड़ित हैं जिसने उन्हें साफ पानी से वंचित रखा है. इज़राइल ईरान के लोगों के साथ खड़ा है."

नेतन्याहू ने वीडियो क्लिप में आगे कहा, "मैं आप सबके जीवन को बचाने में मदद करना चाहता हूं. ईरान के मौसम विज्ञान संगठन का कहना है कि लगभग 96 फीसदी ईरान के लोग सूखे से पीड़ित हैं.''

हालांकि नेतन्याहू के इस वीडियो की आलोचना भी हो रही है. नेतन्याहू के फेसबुक पर पोस्ट किए गए इस वीडियो के नीचे कमेंट में लिखा गया है कि क्यों नहीं इज़राइल ऐसा ही कुछ गाज़ा पट्टी और फलस्तीन के लोगों के लिए भी सोचता. वहीं ईरान ने भी इसे नेतन्याहू का प्रोपेगेंडा बताया है. यही नहीं यूनिसेफ ने 2017 में चेतावनी दी थी कि गाज़ा के बच्चों को भयानक पानी और स्वच्छता संबंधित संकट का सामना करना पड़ सकता है.

वीडियो में नेतन्याहू ने ईरानियों से कहा कि इज़राइल को भी इसी तरह के पानी के दिक्कत हुई थी. उन्होंने कहा, " इन चुनौतियों से निपटने के लिए हमने अत्याधुनिक तकनीकों का विकास किया है. इज़राइल अपने 90 फीसदी वेस्ट वॉटर को रिसाइकिल कर उसका इस्तेमाल करता है. ये बाक़ी देशों की तुलना में काफी ज़्यादा है.''

हालांकि प्रधानमंत्री ने कहा कि ईरान को मदद करना आसाना नहीं है वहां की सरकार हमारे लोगों को वहां जाने नहीं देती. उन्होंने कहा, "अफसोस की बात है, ईरान की सरकार इज़रायल के लोगों को वहां आने से रोकता है, इसलिए हमें रचनात्मक होना होगा. ऐसे में हम विस्तृत योजनाओं के साथ एक फारसी वेबसाइट लॉन्च करेंगे. जहां हम ये बताएंगे कि कैसे वेस्ट वॉटर को को रिसाइकिल किया जा सकता है. हम दिखाएंगे कि कैसे ईरानी किसान अपनी फसलों को बचा सकते हैं और अपने परिवारों को खिला सकते हैं. "

और भी देखें

Updated: September 25, 2018 02:13 PM ISTVIDEO: आतंकी हाफिद सईद ने दी कश्मीर में 'सर्जिकल स्ट्राइक' की गदड़ीभभकी 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर