लाइव टीवी

कुलभूषण मामले में पाकिस्तान का नया पैतरा, कहा- पाकिस्तानी वकील ही रखेगा जाधव का पक्ष

News18Hindi
Updated: December 10, 2019, 11:48 AM IST
कुलभूषण मामले में पाकिस्तान का नया पैतरा, कहा- पाकिस्तानी वकील ही रखेगा जाधव का पक्ष
पाकिस्तान जेल में बंद भारत के कुलभूषण जाधव

पाकिस्तान (Pakistan) ने कहा कि कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) मामले में आगे होने वाली अदालती कार्रवाई में उनका पक्ष कोई पाकिस्तानी वकील ही रखेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2019, 11:48 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) ने वहां जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) के मामले में एक बार फिर नया पैंतरा चला है. पाकिस्तान ने कहा है कि कुलभूषण जाधव मामले में आगे होने वाली कार्रवाई में उनका पक्ष कोई पाकिस्तानी ही कोर्ट में रखेगा. सूत्रों के मुताबिक, भारत के सामने शर्त रखते हुए पाकिस्तान की तरफ से कहा जा रहा है कि वो पाकिस्तान के ही किसी वकील को इस मामले में पावर ऑफ अटॉर्नी दे.

इंटरनेशलन कोर्ट से मिले थे आदेश 
जाधव के मामले में इंटरनेशलन कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) के आदेश के बाद मिले कॉन्सुलर एक्सेस के दौरान जाधव ने भारतीय उच्चायोग को इस मामले में उनका पक्ष रखने का अधिकार दिया था. पिछले महीने एक ट्वीट में पाकिस्तानी सेना ने कहा, कुलभूषण जाधव के लिए 'समीक्षा और पुनर्विचार के लिए विभिन्न कानूनी विकल्प' पर विचार किया जा रहा है और 'अंतिम स्थिति समय के अनुसार साझा की जाएगी'.

पिछले हफ्ते विदेश मंत्रालय ने कहा था कि 'कुछ संचार जो इस मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहा है और भारत नई दिल्ली के साथ राजनयिक चैनलों के माध्यम से 'तत्काल, प्रभावी और निर्बाध' कांसुलर एक्सेस के लिए अनुरोध कर रहा है.

भारत ने कहा, पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा किया गया था अपहरण
इस साल की शुरुआत में, हेग स्थित अदालत ने जाकुल को वियना कन्वेंशन ऑन वियना कन्वेंशन के अनुच्छेद 36 के तहत जाधव तक पहुंच प्रदान करने का आदेश देने के बाद अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में भारत को एक बड़ी कूटनीतिक जीत मिली.

भारत का कहना है कि जाधव को ईरान और नई दिल्ली से पाकिस्तानी एजेंसियों द्वारा अपहरण कर लिया गया था और 25 मार्च 2016 को पाकिस्तानी अधिकारियों द्वारा उनकी हिरासत के बारे में सूचित किया गया था, जिसके बाद 2017 में, इस्लामाबाद ने घोषणा की कि एक सैन्य अदालत ने उन्हें मौत की सजा दी है. (एजेंसी इनपुट के साथ)ये भी पढ़ें : तालिबान को पनाह देना बंद करे पाक, तो अफगानिस्तान में हो जाएगा युद्ध खत्म

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 10:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर