पायलट ने जानबूझकर प्लेन को किया था क्रैश, सवार थे 239 यात्री: रिपोर्ट

रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि पायलट ने विमान के उपकरणों को मैन्युअली बंद कर दिया था. पायलट पहले से ही विमान को क्रैश करने का मन बना चुका था.

News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 9:58 AM IST
पायलट ने जानबूझकर प्लेन को किया था क्रैश, सवार थे 239 यात्री: रिपोर्ट
सांकेतिक तस्वीर
News18Hindi
Updated: June 20, 2019, 9:58 AM IST
आपको याद होगा चार साल पहले मलेशियन एयरलाइंस का एक जहाज MH370 हवा में ही गायब हो गया था. इस विमान में 239 यात्री सवार थे. उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद ये रेडार से गायब हो गया. बाद में प्लेन के अवशेष हिन्द महासागर में मिले. अब इस मामले में एक मैगजीन ने हैरान कर देने वाले खुलासे किए हैं. दावा किया गया है कि विमान के पायलट जाहिरी अहमद शाह ने जानबूझकर इसे क्रैश किया था.

डिप्रेशन का शिकार था पायलट
पत्रिका 'द अटलांटिक' की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पायलट जाहिरी अहमद शाह डिप्रेशन से गुजर रहा था. उसकी निजी जिंदगी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा था. कहा जा रहा है कि वो दो मॉडल्स को लेकर दीवाना था, जिनकी तस्वीरें उसने इंटरनेट पर देखी थीं. उसकी पत्नी भी उसे छोड़ चुकी थी, क्योंकि उसके एयर होस्टेस के साथ संबंध थे. लिहाजा उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी और वो डिप्रेशन का शिकार था.

क्रैश से पहले मर चुके थे यात्री!

रिपोर्ट में ये दावा किया गया है कि पायलट ने विमान के उपकरणों को मैन्युअली बंद कर दिया था. पायलट पहले से ही विमान को क्रैश करने का मन बना चुका था. ऐसे में वो विमान को उस ऊंचाई पर ले गया जिससे कि प्लेन के अंदर ऑक्सीजन की कमी हो जाए. बता दें कि ऑक्सीजन मास्क सिर्फ 15 मिनट तक लोगों को सहारा दे सकता है. शाह के पास कॉकपिट में ऑक्सीजन थी, इसलिए वो घंटों तक विमान को घूमाता रहा. ऐसे में लोग ऑक्सीजन की कमी से बेहोश हो गए और फिर उनकी मौत हो गई. यानी कहा जा रहा है कि क्रैश से पहले ही इसमें सवार लोगों की मौत हो चुकी थी.

लंबी खोज

किसी विमान को खोजने का यह इतिहास में अब तक का सबसे लंबा अभियान था. इसमें लाखों डॉलर खर्च हुए. इस देश में अन्य देशों, खासकर ऑस्ट्रेलिया ने भी मदद की. इसके बाद भी फ्लाइट MH370 को ढूंढ़ा नहीं जा सका.
Loading...

अंतत: जून, 2014 में विमान की खोज में लगी सीबेड एक्सप्लोरेशन फर्म ओशियन इनफिनिटी को मलेशिया की सरकार ने वापस बुला लिया था. अपने ऑपरेशन में फेल रहने के चलते मलेशिया सरकार ने कंपनी को पेमेंट भी नहीं दिया था. लेकिन आज भी MH370 का गायब होना किसी रहस्य से कम नहीं है.

ये भी पढ़ें:

मोदी सरकार की पहली GST मीटिंग कल, सस्ती हो सकती हैं ये चीजें

काला हिरण शिकार: जोधपुर में सैफ ने ड्राइवर को दी ये चेतावनी
First published: June 20, 2019, 9:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...