न्यूयॉर्क में पुलिस अधिकारी क्यों कर रहे हैं आत्महत्या

इन घटनाओं के बाद पुलिस कमिश्नर जेम्स ओनील ने विभाग में मानसिक स्वास्थ्य का संकट होने की घोषणा की. उन्होंने अधिकारियों से विभाग के पादरियों, अपने सहयोगियों और फोन, मैसेज हॉटलाइन की सेवाएं लेने के लिए कहा था.

News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 1:32 PM IST
न्यूयॉर्क में पुलिस अधिकारी क्यों कर रहे हैं आत्महत्या
अधिकारियों ने रविवार को सुसाइड करने वाले अफसर का नाम और उनकी रैंक को ब्योरा नहीं दिया है. (सांकेतिक तस्वीर)
News18Hindi
Updated: July 29, 2019, 1:32 PM IST
अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में पुलिस अधिकारियों के सुसाइड के मामले बढ़ रहे हैं. रविवार को एक पुलिस अधिकारी ने गोली मारकर आत्महत्या कर ली. वे शनिवार को स्टेटन आइलैंड स्थित अपने घर में मृत पाए गए. आत्महत्या की नई घटना ने पुलिस कर्मियों की तनावग्रस्त मानसिक हालत को रेखांकित किया है.

न्यूयॉर्क शहर में हर वर्ष ड्यूटी करते हुए जितने पुलिस अधिकारी नहीं मारे जाते, उससे अधिक खुद जान देकर मर रहे हैं. पुलिस विभाग के अनुसार 2014 के बाद न्यूयॉर्क पुलिस के पांच अधिकारियों ने आत्महत्या की है. जून में चार अधिकारियों ने खुदकुशी कर ली थी. इनमें डिप्टी चीफ स्टीवन सिल्क शामिल हैं.

लड़की ने कहा था-12 लड़कों ने बेहोशी तक किया रेप, सामने आई ये सच्चाई

अधिकारियों ने रविवार को सुसाइड करने वाले अफसर का नाम और उनकी रैंक को ब्योरा नहीं दिया है. सार्जेंट एसोसिएशन ने टि्वटर पर बताया कि मृत अधिकारी सार्जेंट था. मैसेज में कहा गया, 'एक बार फिर भयानक खबर है. न्यूयॉर्क पुलिस के एक अधिकारी ने स्वयं जान दे दी. शहर पुलिस का कठिन दौर जारी है'.

पुलिस विभाग ने एक बयान में कहा, 'दुखद खबर है कि हमारे एक साथी ने आत्महत्या कर ली है. इससे हमारा दिल टूट गया है. हम सबको समझना चाहिए कि कमजोर महसूस करने से कोई फर्क नहीं पड़ता है. जून के बाद से शहर के पांच पुलिस अधिकारी आत्महत्या कर चुके हैं.'

इन घटनाओं के बाद पुलिस कमिश्नर जेम्स ओनील ने विभाग में मानसिक स्वास्थ्य का संकट होने की घोषणा की. उन्होंने अधिकारियों से विभाग के पादरियों, अपने सहयोगियों और फोन, मैसेज हॉटलाइन की सेवाएं लेने के लिए कहा था. दूसरों से सलाह लेने में कोई हर्ज नहीं है. लेकिन, जार्जिया कोर्ट यूनिवर्सिटी में क्रिमिनल जस्टिस के प्रोफेसर रॉबर्ट लाउडन ने कहा, 'पुलिस अधिकारी अक्सर सोचते हैं कि किसी की सहायता लेने की बजाय उन्हें तो लोगों की मदद करनी चाहिए.

समुद्री डाकुओं के लिए जन्नत है ये खाड़ी, हमले और फिरौती से करते हैं करोड़ों-अरबों की कमाई
First published: July 29, 2019, 1:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...