लाइव टीवी

नाइजीरियाई पुलिस ने 300 से अधिक बच्चों को ‘यातना गृह’ से बचाया

News18Hindi
Updated: October 15, 2019, 2:49 PM IST
नाइजीरियाई पुलिस ने 300 से अधिक बच्चों को ‘यातना गृह’ से बचाया
इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल में बंधक बना कर किया जा रहा था यौन उत्पीड़न

पुलिस ने छापेमारी कर एक इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल (Islamic Boarding School) में बंधक बना कर यौन उत्पीड़न (Sexually Abused) का सामना रहे 300 से अधिक बच्चों को मुक्त कराया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2019, 2:49 PM IST
  • Share this:
कानो (नाइजीरिया). उत्तरी नाइजीरिया (Nigeria) में पुलिस ने छापेमारी की और एक इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल (Islamic Boarding School) में बंधक बना कर यौन उत्पीड़न (Sexually Abused) का सामना रहे 300 से अधिक बच्चों को मुक्त कराया. एक महीने में छापेमारी कर 300 से अधिक बच्चों को ऐसे संस्थान से मुक्त कराने की यह दूसरी घटना है.

कहां बना रखा था बच्चों को बंधक 
कैटसिना (Katsina) राज्य में बोर्डिंग स्कूल में बंधक बना कर यौन उत्पीड़न किया जा रहा था. कैटसिना राज्य के दौरा क्षेत्र में रविवार को कुछ छात्र छात्रावास से भाग कर सड़क पर प्रदर्शन करने लगे थे. इसके बाद पुलिस ने स्कूल में छापा मारकर छात्रों को मुक्त कराया.

छात्रों ने बताई आपबीती

कैटसिना पुलिस प्रमुख सानुसी बुबा ने पत्रकारों को बताया कि छात्रों को बंधक बना कर उत्पीड़ित किया जाता था. इन छात्रों को जंजीरों से बांध कर रखा गया था. पुलिस ने बताया कि हमें जानकारी मिली कि यहां 300 से अधिक छात्र हैं जिन्हें कई प्रकार से यातनाएं दी जा रही थी. अमानवीय व्यवहार की वजह से कुछ छात्र रविवार को निकल भागे और विरोध किया. छात्रों को वहां अमानवीय ढंग से रखा जाता था. कुछ छात्रों ने खुलासा किया कि उनके शिक्षक उनका यौन उत्पीड़न भी करते थे.

कौन है स्कूल का मालिक
बुबा ने बताया कि दौरा राजधानी से 70 किमी दूर और नाइजर की सीमा के पास स्थित है. इस स्कूल की स्थापना 78 वर्षीय उलेमा बेलो माय अल्माजीराई ने 40 साल पहले की थी. बाद में उन्होंने स्कूल का प्रबंधन अपने बेटे को सौंप दिया. इस स्कूल में बच्चों को उनके माता-पिता कुरान सीखने और नशामुक्ति के लिए भेजते थे.
Loading...

पुलिस ने दिया आश्वासन
लगभग 60 छात्र अभे वहीं रह गए है. पुलिस ने छात्रों को उनके घर पहुंचाने का आश्वासन दिया है. पिछले महीने पुलिस ने एक ऐसे ही स्कूल से, इसी तरह के उत्पीड़न का सामना कर रहे 300 से अधिक छात्रों को मुक्त कराया था.

उत्तरी नाइजीरिया में नशीली दवाओं के उपयोग और पुनर्वास सुविधाओं की कमी के कारण माता-पिता अपने बच्चों को अनौपचारिक सुधारवादी इस्लामी स्कूलों में भेजते हैं. छात्रों को अक्सर ऐसे स्कूलों में उत्पीड़न का सामना करना पड़ता है. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : मैक्रों ने ट्रम्प को किया आगाह, कहा आईएस आ सकता है दोबारा अस्तित्व में

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 2:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...