निक्की हेली ने कहा- अमेरिका भारत को आगे बढ़ाना चाहता है, चीन रोड़े डालता है

निक्की हेली ने कहा- अमेरिका भारत को आगे बढ़ाना चाहता है, चीन रोड़े डालता है
डोनाल्ड ट्रंप के साथ अमेरिका की पूर्व राजदूत निक्की हेली

निक्की हेली (Nikki Haley) ने कहा कि अमेरिका इंडो-पैसिफिक क्षेत्र (Indo-Pacific) में भारत के लिए एक बड़ी भूमिका पर जोर दे रहा है जिसे कई देशों द्वारा इस क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को रोकने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 2, 2020, 10:24 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. चीन ने पिछले कई दशकों से भोलेभाले अमरीका को धोखा दिया है. यह बयान पूर्व शीर्ष भारतीय-अमेरिकी राजनयिक निक्की हेली (Nikki Haley) ने दिया है. उन्होंने कहा कि ट्रम्प प्रशासन (Trump Administration) अपनी मजबूत इंडो-पैसिफिक (Indo-Pacific) रणनीति के माध्यम से अब सीख रहा है कि उसके असली दोस्त कौन हैं. यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम (यूएसआईएसपीएफ) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित तीसरे भारत-अमेरिकी नेतृत्व शिखर सम्मेलन में बोलते हुए निक्की हेली ने कहा कि अमरीकी अच्छी तरह जानते हैं कि भारतीय उनके लिए खतरा नहीं हैं और इस तरह भारतीयों के लिए अपनी सफलता की कहानी साझा करने का समय आ गया है. अमेरिका इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में भारत के लिए एक बड़ी भूमिका पर जोर दे रहा है जिसे कई देशों द्वारा इस क्षेत्र में चीन के बढ़ते दबदबे को रोकने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है.

चीन की रणनीति

हेली ने सम्मेलन में चीन की रणनीतियों पर बोलते हुए जोर दिया कि किस तरह चीन ने योजनाबद्ध तरीके से अमरीका को यह यकीं दिलाया कि अगर अमरीका चीन के लिए दरवाजे खोलता है तो चीन पश्चिमी देशों की तरह अधिक लोकतान्त्रिक हो जाएगा. मास्टरकार्ड के सीईओ और अध्यक्ष अजय बंगा के एक सवाल के जवाब में निक्की ने जवाब दिया कि अमरीका की तरफ से मदद के हाथ रिपब्लिकन और डेमोक्रेट दोनों पार्टियों के नेताओं ने बढ़ाए और सभी ने सोचा कि यह एक बेहतरीन गठबंधन बनेगा. निक्की ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि अमेरिका को यह समझना होगा कि चीनी कम्युनिस्ट बनना चाहते हैं और वे बदलने वाले नहीं हैं।



भारतीयों के साथ बेहतर संबंध बनाने की ओर ट्रम्प
निक्की ने भारत के साथ रणनीतिक संबंधों को संबंध में कहा कि इस इंडो-पैसिफिक रणनीति के माध्यम से अमेरिका यह सीख रहा है कि उसके असली दोस्त कौन हैं. उन्होंने कहा कि अमरीकियों के सच्चे दोस्त भारतीय हैं और अब भारतीयों को यह दिखाना है कि वे कौन हैं.

ये भी पढ़ें: शादीशुदा शिक्षिका ने 15 वर्षीय छात्र से किया सेक्स, कहा- मैं गर्भवती हो गई

अमेरिकी यूनिवर्सिटी ने चीनी स्कॉलर्स को किया टर्मिनेट, कहा- जल्द लौट जाएं अपने वतन

उन्होंने कहा कि भारतीय अमरीकियों को अपनी बौद्धिकता, अपनी गर्मजोशी दिखा चके हैं अब उन्हें अपनी शर्म को छोड़कर अपनी उपलब्धता और सफलता को दिखाना होगा. उन्होंने कहा कि अमेरिका और भारत दोनों को चीन से समान खतरा है और संयुक्त राज्य अमेरिका, भारत, ऑस्ट्रेलिया और जापान को एक गठबंधन बनाना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज