• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • ब्रिटेन से 25 देशों ने संपर्क तोड़ा, क्या नए कोरोना वायरस पर कारगर होगी वैक्सीन?

ब्रिटेन से 25 देशों ने संपर्क तोड़ा, क्या नए कोरोना वायरस पर कारगर होगी वैक्सीन?

25 देशों ने ब्रिटेन ने संपर्क तोड़ा (फोटो- AFP)

25 देशों ने ब्रिटेन ने संपर्क तोड़ा (फोटो- AFP)

New Coronavirus in UK: ब्रिटेन, अमेरिकी जर्नल सर्जन विवेक मूर्ति और यूरोपीयन यूनियन ने कहा है कि नए कोरोना वायरस के अधिक संक्रामक होने के फिलहाल कोई ठोस सबूत नहीं मिले हैं. हालांकि 25 देशों ने एहतियातन ब्रिटेन से हवाई संपर्क तोड़ लिया है.

  • Share this:
    लंदन. ब्रिटेन (UK) के कुछ हिस्सों में एक नए किस्म (स्ट्रेन) के ज्यादा घातक कोरोना वायरस ( New strain of the coronavirus) फैलने के बाद करीब 25 देशों ने यूके आने-जाने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगा दिया है. हालांकि भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर विवेक मूर्ति ने कहा है कि ऐसा कोई साक्ष्य मौजूद नहीं है जिससे यह सिद्ध हो सके कि यह नया और अधिक संक्रामक रूप ज्यादा घातक है. इसके बावजूद एक नया सवाल खड़ा हो रहा है कि क्या फाइजर, मॉडर्ना और एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन इस नए वायरस के प्रति भी भी उतनी ही कारगर है या नहीं? यूरोपीयन यूनियन की European Medicines Agency (EMA) ने बयान जारी कर कहा है कि ऐसे कोई सबूत नहीं है कि नए वायरस के खिलाफ वैक्सीन काम नहीं करेगी, हालांकि जांच अभी जारी है.

    इस नए वायरस के मामले ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया में भी सामने आए हैं जिसके बाद कई देशों ने एहतियातन अपनी सीमाएं ही बंद कर दीं हैं, इनमें सऊदी अरब और ओमान शामिल हैं. 13 यूरोपीय देशों फ्रांस, जर्मनी, इटली, स्विट्जरलैंड, पुर्तगाल, बेल्जियम, ऑस्ट्रिया, बुल्गारिया, डेनमार्क, फिनलैंड, रोमानिया, क्रोएशिया और नीदरलैंड्स ने UK से आने वाली फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा दिया. भारत ने भी 31 दिसंबर तक ब्रिटेन की सभी फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है.

    इसके अलावा तुर्की ने ब्रिटेन, डेनमार्क, साउथ अफ्रीका और नीदरलैंड्स से आने वाली फ्लाइट्स पर अस्थाई रोक लगा दी है. कनाडा, आयरलैंड, चिली जैसे कई अन्य देशों ने भी ब्रिटेन आने और जाने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगाई है. उधर जॉर्डन ने 3 जनवरी तक यूके की फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है. रूस ने भी मंगलवार से एक हफ्ते के लिए यूके की फ्लाइट्स रोकने का फैसला लिया है. पोलैंड, स्विट्जरलैंड, हांगकांग, इजराइल ने भी ब्रिटेन की यात्रा पर रोक लगा दी है जबकि ओमान ने सभी इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है.

    ब्रिटेन में इमरजेंसी के हालात
    इस नए वायरस के बारे में खबर फैलते ही ब्रिटेन से निकलने के लिए लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर हजारों की भीड़ जमा हो गयी है. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन कई देशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंध पर गवर्नमेंट की कोबरा इमरजेंसी कमेटी के साथ बैठक की है. लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग ने सोमवार को एक बयान में कहा, 'ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति पर विचार करते हुए भारत सरकार ने यह फैसला किया है कि ब्रिटेन से भारत के लिये रवाना होने वाली सभी उड़ानें 31 दिसंबर 2020 (रात 11 बजकर 59 मिनट) तक स्थगित रहेंगी.' नागर विमानन मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 22 दिसंबर को रात 11 बजकर 59 मिनट से ब्रिटेन से आने वाली वाली उड़ान सेवाएं अस्थायी तौर पर स्थगित रहेंगी, जिसके कारण इस अवधि में भारत से ब्रिटेन जाने वाली उड़ानें भी अस्थायी तौर पर स्थगित रहेंगी। इसमें कहा गया कि यह रोक 31 दिसंबर तक रहेगी.



    ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री ने भी दी चेतावनी
    ब्रिटेन में श्रेणी-4 के सख्त लॉकडाउन को लागू किया गया है और सभी अनावश्यक यात्राओं व कार्यक्रमों पर प्रतिबंध है. यूरोपीय संघ (ईयू) के सदस्य राष्ट्रों की एक बैठक भी ब्रसेल्स में होनी है, जिसमें ज्यादा समन्वित प्रतिक्रिया पर चर्चा की जाएगी क्योंकि ब्रिटेन में रविवार को कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 35,928 रही, वहीं कोरोना वायरस के नए स्वरूप का प्रसार तेजी से हो रहा है और 326 और मरीजों की मौत के साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर 67,401 हो गई. ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा, 'सभी को, खास तौर पर श्रेणी-4 के क्ष

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज