दक्षिण कोरिया में नो मास्क, नो राइड नीति लागू, चिली के दो मंत्री कोरोना संक्रमित

दक्षिण कोरिया में नो मास्क, नो राइड नीति लागू, चिली के दो मंत्री कोरोना संक्रमित
एलजी कार्यालय के 3 और कर्मचारियों को गुरुवार को कोविड-19 से संक्रमित पाया गया है. (फाइल फोटो) (Demo Pic)

दक्षिण कोरिया की सरकार ने कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक नई नीति लागू की है. इसके तहत सरकार की ओर से बसों और टैक्सियों पर नो मास्क, नो राइड पॉलिसी शुरू की गई है. ताकि लोग मास्क लगाने को प्रेरित हों. 'योनहाप' समाचार एजेंसी के हवाले से बताया गया है कि बसों और टैक्सी में जो लोग मास्क नहीं पहनेंगे, उन्हें यात्रा नहीं करने दिया जाएगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया भर में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) से हर रोज़ हजारों मौतें हो रहीं हैं, इसी क्रम में मंगलवार को कुल मौतों का आंकड़ा अब 352,605 तक पहुंच गया है. मंगलवार को संक्रमण (Covid-19) के 91,000 से ज्यादा मामले सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 5,701,768 हो गए हैं. बीते 24 घंटे में संक्रमण से 4000 से ज्यादा लोगों ने अपनी जाना गंवा दी और कुल मौतों का आंकड़ा 3,51,000 से भी ज्यादा हो गया है. अमेरिका (US), ब्राजील (Brazil), रूस (Russia), भारत (India) और पेरू (Peru) में मंगलवार को सबसे ज्यादा नए मामले सामने आए, जबकि ब्राजील में संक्रमण से सबसे ज्यादा मौतें दर्ज की गयीं.

 

दक्षिण कोरिया में नो मास्क, नो राइड नीति 
दक्षिण कोरिया की सरकार ने कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के मद्देनजर एक नई नीति लागू की है. इसके तहत सरकार की ओर से बसों और टैक्सियों पर नो मास्क, नो राइड पॉलिसी शुरू की गई है. ताकि लोग मास्क लगाने को प्रेरित हों. 'योनहाप' समाचार एजेंसी के हवाले से बताया गया है कि बसों और टैक्सी में जो लोग मास्क नहीं पहनेंगे, उन्हें यात्रा नहीं करने दिया जाएगा.



ईरान की नवगठित संसद की कार्यवाही शुरू, अब तक 139,511 मामले


ईरान में कोरोना का संक्रमण जारी है. इस बीच ईरान की नवगठित संसद ने बुधवार को अपनी कार्यवाही शुरू की. ईरान में कोरोना के संक्रमण की वजह से अब तक 7,500 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. वहीं अब तक इसके 139,511 मामले सामने आ चुके हैं. ईरान के सरकारी टेलीविजन की ओर से बताया गया है कि सदन की कार्यवाही में शामिल हुए 268 सांसदों की कोविड-19 की जांच की गई. बाद में इन सभी के संक्रमित न होने की पुष्टि की गई.

 

मेक्सिको : कोरोना से एक दिन में 500 लोगों की मौत
मेक्सिको के स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया है कि देश में कोरोना संक्रमण से एक दिन में 501 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. मंगलवार को संक्रमितों की तादाद में सबसे ज्‍यादा इजाफा हुआ. देश में संक्रमण के अब तक 74,560 मामलों की पुष्टि हुई है. वहीं इससे अब तक 8,134 लोगों की मौत हो चुकी है.

 

चिली के दो मंत्रियों में कोरोना संक्रमण
चिली के ऊर्जा मंत्री जुआन कार्लोस जॉबेट और सार्वजनिक निर्माण मंत्री अल्फ्रेडो मोरेनो की कोरोना की जांच की गई. इसमें उनके पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है.

 

#सऊदी अरब में रविवार से शुरू हो जाएंगी घरेलू उड़ानें
सऊदी अरब के उड्डयन मंत्री ने कहा है कि वो रविवार से घरेलू उड़ानों की शुरुआत करने वाले हैं. सऊदी अरब में कोविड-19 महामारी की वजह से 21 मार्च से सभी उड़ानें रद्द कर दी गई थीं. इस सप्ताह से सऊदी अरब ने लॉकडाउन के प्रतिबंधों में ढील देनी शुरू की है और उम्मीद की जा रही है कि 21 जून तक क़र्फ़्यू भी पूरी तरह हटा लिया जाएगा. हालांकि कहा ये भी जा रहा है कि मक्का शहर, जहाँ मुसलमानों का सबसे बड़ा धार्मिक स्थल मौजूद है, वहाँ कर्फ़्यू जारी रहेगा.

#सिंगापुर में लोगों को मुफ्त मास्क बांट रही है सरकार
सिंगापुर प्रशासन ने लोगों को मुफ़्त में मास्क बाँटने के लिए क़रीब 400 वेंडिंग मशीनें लगाई हैं जहाँ से लोग मास्क ले सकते हैं. ये तीसरी बार है जब स्थानीय प्रशासन ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए ऐसा क़दम उठाया है. शुरुआत में माना जा रहा था कि सिंगापुर ने बहुत अच्छे तरीक़े से संक्रमण को कंट्रोल कर लिया, लेकिन हालिया हफ़्तों में वहाँ संक्रमण के मामलें तेज़ी से सामने आये हैं. सिंगापुर में अब तक संक्रमण के 32 से अधिक केस दर्ज हो चुके हैं जो दक्षिण-पूर्व एशिया में सबसे अधिक हैं.

#गूगल जल्द फिर से खोलेगा अपना ऑफिस
गूगल ने कहा है कि वह विभिन्न शहरों में मौजूद अपने ऑफ़िस को छह जुलाई से फिर खोलने की योजना बना रहा है. गूगल अपने प्रत्येक कर्मचारी को आवश्यक उपकरण और ऑफ़िस फर्नीचर पर ख़र्च करने के लिए क़रीब एक हज़ार डॉलर देगा. यह रक़म देश और शहर के लिहाज़ से तय की जाएगी. क्योंकि इस बात की पूरी संभावना है कि आने वाले साल तक ज़्यादातर कर्मचारियों को घर पर से ही काम करना पड़े.

#जर्मनी ने सोशल डिस्टेंसिंग प्रतिबंध 29 जून तक बढ़ाए
जर्मनी ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को 29 जून तक के लिए बढ़ा दिया है. जर्मन चांसलर एंगेला मर्केल ने कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के आधार पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को बढ़ाने का आदेश जारी किया है. सार्वजनिक जगहों पर दस से ज़्यादा लोगों के जमा होने की मनाही है.

#ब्राजील
ब्राजील ने कोरोना संक्रमण से हो रही दैनिक मौतों के मामले में अब अमेरिका को पीछे छोड़ दिया है. मंगलवार को यहां संक्रमण के 15,691 नए मामले सामने आर जिसके बाद कुल कामले बढ़कर अब 3,92,360 हो गए हैं. मंगलवार को ब्राजील ने मौतों के मामले में नया रिकॉर्ड बनाया. बीते 24 घंटे में यहां 1,027 मौतें हुईं और कुल मौतों का आंकड़ा 24,500 से ज्यादा हो गया है.

#अमेरिका
अमेरिका में मंगलवार को संक्रमण के 18,929 नए केस सामने आए जिसके बाद कुल मामले बढ़कर 17,25,000 से ज्यादा हो गए हैं. बीते 24 घंटे में यहां संक्रमण से 775 लोगों की मौत हो गयी जिसके बाद मौतों का आंकड़ा अब 1 लाख पहुंच गया है. हालांकि जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक अभी 1 लाख मौतें नहीं हुईं हैं.

#ब्रिटेन में 15 जून से खुलेंगी सभी खुदरा दुकानें
ब्रिटेन की सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में ढील की घोषणा करते हुए कहा है कि 15 जून से गैर-आवश्यक वस्तुओं की बिक्री करने वाले सभी खुदरा दुकानों को सशर्त खोलने की अनुमति दी जाएगी, लेकिन परिस्थितियों में बदलाव होने पर छूट में बदलाव भी किया जा सकता है. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सोमवार की रात डाउनिंग स्ट्रीट पर अपने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दुकानों को सशर्त खोलने की अनुमति दी जा रही है. लॉकडाउन में ढील के तहत एक जून से सभी प्राइमरी स्कूल खुल जाएंगे और अगले सप्ताह से बाहर लगने वाले बाजार तथा कारों के शोरुम भी काम करने लगेंगे.

इसके साथ ही 15 जून से खुदरा क्षेत्र को भी छूट मिल गयी है. जॉनसन ने कहा, '15 जून से हम गैर आवश्यक वस्तुओ की बिक्री करने वाले खुदरा दुकानें, डिपार्टमेंट स्टोर, छोटी एकल दुकानों को भी खोलने की अनुमति दे रहे हैं. लेकिन परिस्थितियों के आधार पर इस छूट में बदलाव किया जा सकता है और ये दुकानें सिर्फ उन्हीं क्षेत्रों में खलेंगी जो कोविड-19 से सुरक्षित हैं.'

#रूस में संक्रमण से 174 की मौत
रूस में मंगलवार को कोरोना वायरस से मौत के रिकार्ड 174 मामले सामने आए और देश में संक्रमण से मरने वालों की संख्या 3,807 हो गयी. रूस में संक्रमण के मामले मंगलवार को 3,60,000 को पार कर गये जहां पिछले 24 घंटे में संक्रमण के करीब 9,000 नये मामले सामने आए हैं. देश में अपेक्षाकृत कम मृत्यु दर पर रूस और पश्चिमी देशों के विशेषज्ञों के मन में सवाल उठ रहे हैं. कुछ का मानना है कि सरकार आंकड़ों में हेरफेर कर रही है, वहीं कुछ वायरस से मौत के कम मामले दर्ज करने की बात कर रहे हैं. रूस के अधिकारियों ने आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए मौत के कम मामलों का श्रेय रोकथाम के लिए उठाये गये कदमों के असर को दिया है.

#पाकिस्तान में संक्रमण के मामले 57,705 हुए
पाकिस्तान में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 1,356 नए मामले सामने आए और 30 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 57,705 हो गए हैं और 1,197 लोगों की मौत हो गई है. संक्रमण के कुल 57,705 मामलों में से सिंध में अब तक 22,934, पंजाब में 20,654, खैबर-पख्तूनख्वा में 8,080, बलूचिस्तान में 3,468, इस्लामाबाद में 1,728, गिलगित-बाल्टिस्तान में 630 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 211 मामले हैं.

अधिकारियों ने अब तक 490,908 नमूनों की जांच की है, जिसमें सोमवार को की गयी 7,252 नमूनों की जांच शामिल हैं. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार अब तक 18,314 मरीज उपचार के बाद ठीक हो चुके हैं, जबकि 1,197 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है. पाकिस्तान में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने के बाद जापान ने महामारी के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान को सहयोग की पेशकश की है. जापान के विदेश मंत्री तोशीमित्सु मोतेगी ने विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को एक पत्र लिख कर मदद की पेशकश की.

#चेतावनी! महामारी का पहला दौर अभी खत्म नहीं हुआ
कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तीव्र वृद्धि से निपटने में ब्राजील और भारत के संघर्ष करने के बीच एक शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञ ने चेतावनी दी है कि विश्व अब भी महामारी के बीचोंबीच फंसा हुआ है और इसने वैश्विक अर्थव्यवस्था के तेजी से पटरी पर लौटने और अंतरराष्ट्रीय यात्रा फिर से शुरू होने की उम्मीद धुंधली कर दी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के कार्यकारी निदेशक डॉ माइक रयान ने कहा, 'अभी, हम दूसरे (महामारी के) चरण में नहीं हैं. हम वैश्विक स्तर पर इसके पहले चरण के बीचोंबीच हैं.'

रयान ने संक्रमण के मामले बढ़ने वाले क्षेत्रों--दक्षिण अमेरिका, दक्षिण एशिया और अन्य इलाकों--की ओर इशारा करते हुए कहा, हम अब भी एक ऐसे चरण में हैं, जहां रोग वास्तव में बढ़ता ही जा रहा है. भारत में लगातार सातवें दिन रिकार्ड संख्या में नये मामले सामने आये. मंगलवार को संक्रमण के 6,535 मामले सामने आये, जिसके साथ कुल संख्या बढ़ कर 145,380 हो गई और अब तक कुल 4,167 लोगों की मौतें भी हुई हैं. वायरस भारत के कुछ गरीब, अधिक आबादी वाले इलाकों में तेजी से फैला है, जिससे यह पता चलता है कि सरकार संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिये किस कदर चुनौती का सामना कर रही है.

#चीन में कोरोना वायरस के 36 नए मामले
चीन में कोरोना वायरस के 36 नए मामले सामने आए हैं, इनमें 29 मामले ऐसे हैं जिनमें संक्रमितों में कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं थे. स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि अधिकतर मामले वुहान में सामने आए हैं, जहां अभी तक 65 लाख लोगों की जांच की जा चुकी है. देश के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि नए मामलों में से सात लोग बाहर से आए हैं. पांच भीतरी मंगोलिया स्वायत्त क्षेत्र से और शंघाई तथा फूजियन से एक-एक व्यक्ति है. उसने बताया कि कोविड-19 से सोमवार को किसी की जान नहीं गई। वहीं विदेश से आए 28 लोग सहित बिना संक्रमण के लक्षण वाले 403 लोग देशभर में चिकित्सीय निगरानी में हैं. एनएचसी ने बताया कि सोमवार तक देश में कोविड-19 के 82,992 मामले थे और 4,634 लोगों की मौत हो चुकी है.

#नेपाल में 90 नए मामले, आंकड़े 750 के पार
नेपाल में मंगलवार को कोरोना वायरस के 90 नए मामले सामने आए, जिससे देश में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 772 हो गयी, यह संख्या किसी एक दिन में सबसे अधिक है. नेपाल ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन दो जून तक बढ़ा दिया है. नेपाल उन देशों में से है जहां कोराना वायरस के मामले सबसे कम आए हैं. स्वास्थ्य और जनसंख्या मंत्रालय के अनुसार मंगलवार को संक्रमण के 90 नए मामलों में केवल दो महिलाएं हैं जबकि अन्य सभी पुरुष हैं. सभी मरीजों की उम्र दो वर्ष से 55 वर्ष के बीच है. अब तक कुल 155 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं जबकि 613 लोगों का इलाज चल रहा है.

#बोरिस जॉनसन ने पुतिन को ऑनलाइन शिखर सम्मेलन में बुलाया
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना वायरस का टीका विकसित करने संबंधी एक ऑनलाइन सम्मेलन में भाग लेने का न्योता रुस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन को दिया है. ब्रिटिश दूतावास ने बताया कि जॉनसन ने चार जून को होने वाले ‘वैश्विक टीका सम्मेलन 2020’ में भाग लेने के लिए पुतिन को आधिकारिक रूप से न्योता भेजा है. सम्मेलन की मेजबानी ब्रिटेन कर रहा है. दूतावास का बयान यह संकेत देता है कि इस शिखर सम्मेलन का मुख्य जोर टीका गठबंधन ‘गावी’ के लिए महत्वपूर्ण समर्थन जुटाना है. साथ ही इसका उद्देश्य दुनिया की मदद के लिए कोविड-19 के लिए विकसित किए जाने वाले किसी भी टीके की उपलब्धता सुनिश्चित करना है. रूस की कई प्रयोगशालाएं कोरोना वायरस का टीका बनाने में जुटी हुई हैं और मनुष्यों पर उनका परीक्षण अगले महीने से शुरू होने की सभावना है.

#बेथलहम का नेटिविटी चर्च श्रद्धालुओं के लिए खुला
कोरोना वायरस संकट के कारण करीब तीन महीने से बंद बेथलहम स्थित चर्च ऑफ नेटिविटी मंगलवार को फिर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया. पश्चिमी तट पर कोविड-19 का पहला मामला आने के बाद पांच मार्च को चर्च ऑफ नेटिविटी को बंद कर दिया गया था. यह चर्च जिस स्थान पर बना हुआ है, ईसाई समुदाय के लोगों का मानना है कि ईसा मसीह का जन्म वहीं हुआ था. यह चर्च ईसाई समुदाय के सबसे पवित्र धर्मस्थलों में से है और इसे ईस्टर (गुड फ्राइडे के साथ आने वाला पर्व) से ठीक पहले बंद किया गया था. गौरतलब है कि ईस्टर के अवसर पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु का और पर्यटक यहां आते हैं. ग्रीक ऑर्थोडॉक्स पादरी बिशप थियोफिलेक्टस ने चर्च को फिर से खोले जाने को एक उत्सव जैसा बताते हुए कहा कि अब सभी लोग पहले ही तरह चर्च में आ सकते हैं और प्रार्थना कर सकते हैं.

 

#वैज्ञानिकों ने वायरस को निष्क्रय करने में प्रभावी दो प्रोटीन की पहचान की
चीन और अमेरिका के वैज्ञानिकों ने संयुक्त रूप से दो जीवाणु स्रावित प्रोटीन का पता लगाया है जो कोरोना वायरस, डेंगू और एचआईवी सहित विषाणुओं की श्रृंखला को प्रभावी ढंग से निष्क्रिय कर सकते हैं. सरकार संचालित ग्लोबल टाइम्स ने अध्ययन से संबंधित एक पत्र के आधार पर मंगलवार को कहा कि परिणाम भविष्य में बड़े पैमाने पर विषाणु रोधी दवाओं के विकास का आधार बन सकता है. पत्र के अनुसार अनुसंधानकर्ताओं ने पहले एडीज इजिप्टी मच्छरों की आंत में पाए जाने वाले एक जीवाणु की पहचान की. इसके बाद उन्होंने इस जीवाणु की विशिष्टता जानने के लिए उसके समूचे जीनोम का अध्ययन किया. इस दौरान ऐसे दो प्रोटीन की पहचान की जो एचआईवी, डेंगू और नए कोरोना वायरस सहित अन्य विषाणुओं को प्रभावी ढंग से निष्क्रिय कर सकते हैं. अध्ययन में त्सिंगहुआ विश्वविद्यालय और एकेडमी ऑफ मिलिटरी मेडिकल साइंसेज बीजिंग, रोग रोकथाम और नियंत्रण केंद्र, शेंझेन और अमेरिका के कनेक्टीकट विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ता शामिल थे.

#हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन राजनीति का शिकार हो गई
भारतीय मूल के एक प्रख्यात चिकित्सक ने स्वीकार किया है कि मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (कुनैन की गोलियां) अमेरिका में राजनीति का शिकार हो गई. उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यह खुलासा किया था कि उन्होंने वह हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के संभावित गंभीर दुष्प्रभावों के बारे में मेडिकल चेतावनी के बावजूद यह जीवनरक्षक दवा ले रहे थे. उन्होंने व्हाइट हाउस के चिकित्सक से परामर्श करने के बाद कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिये यह दवा ली. डॉ भरत बरई ने कहा कि उन्होंने मीडिया में आई खबरें और चिकित्सकों द्वारा राष्ट्रपति की आलोचना किये जाते देखा तथा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के दुष्प्रभावों को बढ़ा-चढ़ा कर बताया गया.

हालांकि, राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल कोरोना वायरस के खिलाफ इस दवा का एक सबसे बेहतरीन रोगरोधक तंत्र के रूप में उपयोग है. मंस्टर कम्युनिटी हॉस्पिटल, इंडियाना से जुड़े कैंसर विशेषज्ञ बरई ने कहा, ‘‘सभी दवाइयों के दुष्प्रभाव हैं. यह हमेशा से फायदे बनाम जोखिम विश्लेषण रहा है. हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन एफडीए से मान्यता प्राप्त है और ‘लुपस’ (जब किसी व्यक्ति के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता शरीर के ही उत्तकों और अंगों को नुकसान पहुंचाने लगती है), गठिया और अन्य रोगों वाले रोगियों द्वारा वर्षों से इस्तेमाल किया जाती रही है.’’

 

ये भी पढ़ें :

फैक्ट चेक: कितनी सच है आपके खाते में 5000 का रिलीफ फंड आने की बात?

नॉलेज : देश में टिड्डी टेरर का दौर, जानिए टिड्डियों से जुड़े हर सवाल का जवाब
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading