अमेरिका: स्कूल में 'राजनीति' से चिढ़ी 9 साल की छात्रा, भरी मीटिंग में बोर्ड को लगाई फटकार

नोवाली ने कहा है कि वे ब्लैक लाइव्स मैटर की विचारधारा से सहमत नहीं हैं. (फोटो: यूट्यूब स्क्रीनग्रैब)

नोवाली ने कहा है कि वे ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Lives Matter) की विचारधारा से सहमत नहीं है और यह लोगों को जातिवाद करने वाला बनाता है. साथ ही उन्होंने कहा कि यह मार्टिन लूथर किंग की शिक्षा के खिलाफ है.

  • Share this:
    मिनेसोटा. अमेरिका (US) के मिनेसोटा (Minnesota) में एक 9 साल की बच्ची नोवाली (Novalee) ने नियमों का कथित उल्लंघन कर रहे स्कूल को कड़ी फटकार लगाई. इसके बाद से ही वह लोगों के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है. नोवाली का कहना था कि स्कूल ने खुद ही नियम बनाया था कि यहां राजनीति से जुड़े सभी पोस्टर्स पर प्रतिबंध रहेगा, लेकिन उन्होंने खुद ही ब्लैक लाइव्स मैटर (Black Lives Matter) के चित्र दीवार पर लगाकर नियम तोड़े हैं.

    इस महीने लेकविल में स्कूल बोर्ड की मीटिंग का आयोजन हुआ था. इस दौरान नोवाली ने जमकर अपनी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा, 'मैं दीवार पर देखती हूं और एक बीएलएम और एमेंडा गोरमैन का पोस्टर पाती हूं. अगर आपको नहीं पता कि यह लड़की कौन है, तो यह वही है, जिसने बाइडन की कथित शुरुआत पर कविता लिखी थी.'

    उन्होंने कहा, 'मैं बहुत नाराज थी. मुझसे दो हफ्ते पहले इसी मीटिंग में कहा गया था कि स्कूल में कोई राजनीति नहीं होगी. इस मीटिंग में आपने जो कहा था, उसपर मुझे भरोसा था.' नोवाली ने जानकारी दी कि वे लंच ब्रेक के दौरान प्रिंसिपल से मिलने भी गईं और कहा कि वे इन्हें हटाना चाहती हैं, लेकिन कथित रूप से उन्होंने यह कहते हुए मना कर दिया कि पोस्टर्स को खुद बोर्ड ने लगवाए हैं.

    यह भी पढ़ें: दुनियाभर के एंटीवायरस गुरु जॉन मैकफी ने स्पेन की जेल में की आत्महत्या

    नोवाली ने कहा है कि वे ब्लैक लाइव्स मैटर की विचारधारा से सहमत नहीं हैं और यह लोगों को जातिवाद करने वाला बनाता है. साथ ही उन्होंने कहा कि यह मार्टिन लूथर किंग की शिक्षा के खिलाफ है. उन्होंने कहा, 'मैं लोगों को उनकी त्वचा के रंग से नहीं देखती. मुझे वास्तव में फर्क नहीं पड़ता कि उनके बालों, त्वचा या आंखों का रंग क्या है. मैं देखती हूं कि वे मेरे साथ कैसा व्यवहार कर रहे हैं. मुझे त्वचा के रंग से फर्क नहीं पड़ता, लेकिन आपकी वजह से मुझे ऐसा सोचना पड़ा.'

    नोवाली ने कहा, 'आपने मुझसे झूठ कहा और मैं आप सभी से काफी निराश हूं.' लेकविल वही जगह है, जहां मई में जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद प्रदर्शन शुरू हुए थे. छात्रा ने अपने भाषण में यह भी बताया कि कैसे फ्लॉयड की मौत की बरसी पर 25 मई को स्कूल ने कैसे खुद ही नियम तैयार किया था कि स्कूल में ब्लैक लाइव्स मैटर से जुड़े कोई पोस्टर स्कूल में नहीं होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.