द. कोरिया में अमेरिकी सैन्य अभ्यास से भड़के किम जोंग, परमाणु हथियार बनाने के दिए आदेश

उ. कोरिया के तानाशाह किम ने अमेरिका के खिलाफ परमाणु हथियार बनाने के आदेश दिए. फोटोः AFP

उ. कोरिया के तानाशाह किम ने अमेरिका के खिलाफ परमाणु हथियार बनाने के आदेश दिए. फोटोः AFP

North Korea's Supreme Leader Kim Jong Un Ordered to Make Nuclear Weapon: अमेरिका (America) ने पिछले दिनों दक्षिण कोरिया (South Korea) में संयुक्त सैन्य अभ्यास (Joint Army Exercise) किया. इससे खफा होकर उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने पांच साल बाद हो रही पार्टी कांग्रेस की बैठक में अपने अधिकारियों को परमाणु हथियार के निर्माण के आदेश दे दिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 9, 2021, 11:40 AM IST
  • Share this:
प्योंगयांग. अमेरिका (America) ने पिछले दिनों दक्षिण कोरिया (South Korea) में संयुक्त सैन्य अभ्यास (Joint Army Exercise) किया. इससे खफा होकर उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग ने पांच साल बाद हो रही पार्टी कांग्रेस की बैठक में अपने अधिकारियों को परमाणु हथियार के निर्माण के आदेश दे दिए. दरअसल, किम जोंग उन यह कदम अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) को दबाव में लाने के उद्देश्य से कर रहा है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कार्यकाल 12 दिनों में समाप्त होने वाला है.

किम ने अमेरिका को बताया खतरा

किम जोंग उन ने कहा कि उत्तर कोरिया तब तक किसी भी देश के खिलाफ परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं करेगा. हालांकि कोई उसके खिलाफ हथियारों का इस्तेमाल करेगा तो उसका वह मुंहतोड़ जवाब देगा. हालांकि, उन्होंने साफ कहा कि अमेरिकी हमले के खतरे को देखते हुए देश की सैन्य और परमाणु क्षमता को मजबूत करना जरूरी है. किम ने इस दौरान अमेरिका के किसी कदम का जिक्र नहीं किया. हालांकि किम दक्षिण कोरिया के साथ अमेरिकी सैन्य अभ्यास, अमेरिकी सर्विलांस एयरक्राफ्ट और दक्षिण कोरिया में अमेरिकी सेना की मौजूदगी को अपने खिलाफ कार्रवाई मानते रहे हैं.

15 हजार किमी. दूर मार करने वाले हथियार बनाने को कहा
किम ने कई हथियारों को ले जाने में सक्षम मिसाइलें, पानी के नीचे लाॅन्च होने वाली न्यूक्लियर मिसाइलें, जासूसी सैटलाइट्स् और परमाणु क्षमता वाली पनडुब्बियां बनाने को कहा है. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया को 15 हजार किलोमीटर तक मारक क्षमता विकसित करनी होगी. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया को अपने हमले की एक्यूरेसी बढ़ानी होगी. उत्तर कोरिया से अमेरिका की दूर करीब 15 हजार किलोमीटर है. इसके अलावा लंबी दूरी की मिसाइलों पर छोटे और हल्के परमाणु हथियार ले जाने की तकनीक विकसित करने को भी कहा गया है.

ये भी पढ़ेंः उ. कोरिया के तानाशाह किम ने मानी अपनी गलती, कहा- आर्थिक प्र​गति में हम पिछड़े

PAK: सुप्रीम कोर्ट ने हिंदू मंदिर के पुर्ननिर्माण का दिया आदेश, मौलवी से वसूली जाएगी राशि



कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने किम के हवाले से कहा है कि उत्तर कोरिया के खिलाफ हमला करने की कोशिश ना करे. किम ने यह भी आश्वासन दिया कि वह तब तक किसी देश पर हमला नहीं करेगा जबतक वह किसी हमले को अंजाम नहीं देगा. अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने साफ-साफ कहा कि अमेरिकी हमले के खतरे को देखते हुए देश की सैन्य और परमाणु क्षमता को मजबूत करना जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज