कम हुई ट्रंप की मिलिट्री पावर, ईरान पर हमले से पहले लेनी होगी मंजूरी

कम हुई ट्रंप की मिलिट्री पावर, ईरान पर हमले से पहले लेनी होगी मंजूरी
कोरोना वायरस पर ट्रंप की बताई दवा की जगह एक कपल ने गलत केमिकल पी लिया.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को ईरान पर हमला करने से रोकने संबंधी प्रस्ताव को बुधवार को अंतिम मंजूरी दे दी गई.

  • Share this:
वाशिंगटन: अमेरिकी कांग्रेस ने कई महीने से चले आ रहे तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को ईरान पर हमला करने से रोकने संबंधी प्रस्ताव को बुधवार को अंतिम मंजूरी दे दी.

प्रतिनिधि सभा में प्रस्ताव के पक्ष में 227 जबकि विपक्ष में 186 वोट पडे़. प्रस्ताव के मुताबिक, कांग्रेस की मंजूरी के बिना ईरान पर सैन्य कार्रवाई नहीं की जा सकती है. सीनेट में इस बारे में एक प्रस्ताव पहले ही पारित हो चुका है.

हालांकि, प्रस्ताव को ट्रंप द्वारा वीटो किया जाना लगभग निश्चित है और इसे रद्द करने के लिए ज्यादातर डेमोक्रेट्स और मुट्ठी भर युद्ध-विरोधी रिपब्लिकन के पास वोटों की कमी है.



बगदाद के उत्तर में सैन्य अड्डे पर रॉकेट दागे जाने के कुछ ही क्षणों के बाद प्रतिनिधि सभा ने प्रस्ताव पर मतदान किया. इस हमले में एक अमेरिकी सैनिक, एक ब्रिटिश सैनिक और एक अमेरिकी ठेकेदार की मौत हो गई थी. पिछले कई वर्षों में विदेशी सेना पर किया गया यह भीषणतम हमला है.
पिछले दिसंबर में हुए एक हमले में अमेरिकी ठेकेदार की मौत हो गई थी, जिसका आरोप ईरान पर आया था. इसके बाद, तीन जनवरी को ट्रंप ने ड्र्रोन हमले का आदेश दिया था, जिसमें बगदाद हवाईअड्डे पर ईरान के सबसे ताकतवर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी.

प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट पार्टी के दूसरे सर्वोच्च नेता स्टेनी हॉयर ने कहा, ' दुनिया में कई ऐसे देश हैं, जहां एक व्यक्ति फैसले लेता है. उन्हें तानाशाह कहा जाता है. हमारे देश के निर्माता नहीं चाहते थे कि अमेरिका को तानाशाह चलाएं.'

ये भी पढ़ें:

कोरोना वायरस के खौफ में इस टाउन को लोग कहने लगे 'भुतहा' शहर, नहीं नजर आता एक भी आदमी

जहां से फैला कोरोना वायरस, अब वहीं हुए संक्रमण के सबसे कम मामले

क्या ट्रंप के दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने में सबसे बड़ा रोड़ा है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस पर कॉन्फ्रेंस कोरोना वायरस की वजह से ही कैंसिल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज