कोरोना से जूझते पाक में अब बढ़ा डेंगू का खतरा, 6 हजार कर्मचारी भर्ती किए जाएंगे

कोरोना से जूझते पाक में अब बढ़ा डेंगू का खतरा, 6 हजार कर्मचारी भर्ती किए जाएंगे
डेंगू का मच्छर का नाम मादा एडीज मच्छर है.

पंजाब इस समय पाकिस्‍तान का कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित सूबा है. ऐसे में यहां डेंगू का खतरा बढ़ा तो लोगों की जिंदगी और खतरे में पड़ जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2020, 5:15 PM IST
  • Share this:
लाहौर. पाकिस्‍तान (Pakistan) में कोरोना (Corona virus) का कहर थम नहीं रहा, वहीं अब डेंगू का खतरा मंडराने लगा है. यही वजह है कि स्वास्थ्य विभाग ने डेंगू (Dengue) को नियंत्रित करने के लिए 6,000 कर्मचारियों की फौरन भर्ती करने का फैसला किया है.

पंजाब (Punjab) प्रांत इस समय पाकिस्‍तान का कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित सूबा है. ऐसे में यहां डेंगू का खतरा बढ़ा तो लोगों की जिंदगी और खतरे में पड़ जाएगी. यही वजह है कि इस ओर एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं. 'उर्दू दुनिया न्‍यूज' के हवाले से कहा गया है कि मौसम के बदलते ही कुछ क्षेत्रों में डेंगू का लारवा पैदा होना शुरू हो गया है. इसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने कर्मचारियों की भर्ती करने का फैसला किया है, ताकि इसको खत्म किया जा सके.

कोरोना से जूझते पंजाब में अब डेंगू बन रहा मुसीबत
पंजाब में हर साल डेंगू का कहर शहरियों को निशाना बनाता है. इस बार कोरोना का संक्रमण पहले ही लोगों को भयभीत किए हुए है. यही वजह है कि इस बार मौसम के बदलना शुरू होते ही डेंगू के खात्‍मे को तैयारी की जा रही है. दूसरी ओर कोरोना वायरस के निदान और रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पंजाब के दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना आउटरीच कार्यक्रम शुरू करने का निर्णय लिया है, जिसके लिए 12 मोबाइल हेल्‍थ प्‍वाइंट चुने गए हैं. वहीं पंजाब में टेस्टिंग की तादाद बढ़ाने के लिए अगले सप्ताह 3 और लैब शुरू की जाएंगी और किए जाने वाले दैनिक टेस्‍ट की तादाद 6 हजार तक पहुंच जाएगी. स्वास्थ्य सचिव, प्राइमरी एंड सेकेंडरी केप्‍टन (सेवानिवृत्त) मुहम्मद उस्मान ने कहा कि 'कोरोना में प्रतिदिन 3 टेस्‍ट किए जा रहे हैं. अगले सप्ताह इनकी तादाद दोगुनी हो जाएगी.'
उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान में पंजाब में सरकारी और निजी 9 लैब काम कर रही हैं. अगले सप्ताह से 3 लैब और काम करने लगेंगी. पंजाब में 50 हजार से अधिक टेस्‍ट किए जा चुके हैं. कोरोना के फैलने के बाद से एक लैब थी. इसमें एक दिन में 70 से 80 टेस्‍ट होते थे.



ये भी पढ़ें - दबंग महिला एसएचओ से थर्राए पाकिस्‍तानी, पुलिस के बर्ताव पर उठ रहीं उंगलियां

                   PAK : 'मैं कोरोना से लड़ रहा, बच्‍चे भूख से', मरीज ने की जान देने की कोशिश

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज