Home /News /world /

भारतवंशी डॉक्टर के खिलाफ बच्चियों का खतना करने का आरोप खारिज

भारतवंशी डॉक्टर के खिलाफ बच्चियों का खतना करने का आरोप खारिज

प्रतीकात्मक फोटो.

प्रतीकात्मक फोटो.

डॉ. जुमना नागरवाला ने मिनेसोटा की सात वर्षीय दो बच्चियों का अवैध रूप से खतना करने के इरादे से यात्रा करने की साजिश रचने का आरोप खारिज करने का अनुरोध किया था. दोनों बच्चियों को मेट्रो डेट्रॉयट लाया गया और अभियोजन ने इसे (खतना को) अवैध रूप से किया गया कार्य बताया.

अधिक पढ़ें ...
  • News18Hindi
  • Last Updated :

    वॉशिंगटन. अमेरिका के एक संघीय न्यायाधीश ने बच्चियों का खतना करने की आरोपी भारतीय मूल की एक चिकित्सक डॉ. जमुन नागरवाला के खिलाफ नए आरोप खारिज कर दिए हैं. अमेरिका में अपनी तरह का यह पहला मामला माना जा रहा है. यह मामला अप्रैल 2017 को सामने आया था, जब नागरवाला को गिरफ्तार किया गया और उन पर एक साजिश का आरोप लगाया गया.

    ब्रिटेन में बुरे फंसे भारतीय मूल के कीथ वाज, पूर्व कर्मचारी को प्रताड़ित करने का लगा आरोप
    ‘द डेट्रॉयट न्यूज’ की खबर के मुताबिक डॉ. जुमना नागरवाला ने मिनेसोटा की सात वर्षीय दो बच्चियों का अवैध रूप से खतना करने के इरादे से यात्रा करने की साजिश रचने का आरोप खारिज करने का अनुरोध किया था. दोनों बच्चियों को मेट्रो डेट्रॉयट लाया गया और अभियोजन ने इसे (खतना को) अवैध रूप से किया गया कार्य बताया.

    5 साल लंबे संघर्ष के बाद सिख अफसर को मिली पगड़ी पहनने की इजाजत
    न्यायाधीश बर्नार्ड फ्रेडमैन ने मामले में दायर चौथे अभियोग को खारिज करते हुए कहा कि यह एक प्रतिशोधी अभियोजन जैसा है. डॉ. नागरवाला पर डेट्रायट के उपनगरीय क्लीनिक में नौ बच्चियों का खतना करने का आरोप है. हालांकि, उन्होंने ऐसा कोई अपराध करने से इनकार किया है. उन्होंने कहा है कि वह सिर्फ धार्मिक रिवाज निभा रही थीं. जिन लड़कियों का खतना किया गया वे इलिनॉय, मिशिगन और मिनेसोटा की थीं. (एजेंसी इनपुट के साथ)

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर