• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • Blue Origin: संजल गवांडे ने रोशन किया भारत का नाम, जेफ बेजोस की रॉकेट टीम का बनीं हिस्सा

Blue Origin: संजल गवांडे ने रोशन किया भारत का नाम, जेफ बेजोस की रॉकेट टीम का बनीं हिस्सा

संजल गवांडे (फाइल फोटो)

संजल गवांडे (फाइल फोटो)

जेफ बेजोस (Jeff Bezos) 20 जुलाई को अपने क्रू के साथ अंतरिक्ष (Space) की यात्रा पर जाने को लेकर तैयार हैं. संजल इसमें इस्तेमाल होने वाले 'न्यू शेफर्ड' रॉकेट को तैयार करने वाली टीम का हिस्सा हैं.

  • Share this:
    केंट. अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस (Jeff Bezos) 20 जुलाई को अपने क्रू के साथ अंतरिक्ष की यात्रा पर जाने को लेकर तैयार हैं. बेजोस की इस यात्रा के लिए जिस रॉकेट का निर्माण किया गया है उसको बनाने वाली टीम में भारत की बेटी संजल गवांडे (Sanjal Gavande) भी शामिल हैं. 30 वर्षीय संजल महाराष्ट्र (Maharashtra) के कल्याण में कोलसेवाड़ी क्षेत्र की रहने वाली हैं. संजल के पिता कल्याण-डोंबिवली नगर निगम से रिटायर्ड हैं. जबकी उनकी माताजी MTNL से रिटायर हुई हैं. संजल की मां ने बताया कि, उनकी बेटी की बचपन से ही अंतरिक्ष की दुनिया में रूचि थी.

    स्पेस एक्सप्लोरेशन के क्षेत्र में काम कर रही जेफ बेजोस की कंपनी ब्लू ऑरिजिन के लिए 'New Shepard' नाम का रॉकेट सिस्टम तैयार किया गया है. संजल इसको तैयार करने वाली टीम का हिस्सा हैं. अपनी इस उपलब्धि पर उन्होंने कहा, "मैं बहुत खुश हूं कि मेरा बचपन का सपना अब पूरा होने जा रहा है. टीम ब्लू ऑरिजिन का हिस्सा बनकर मैं गर्व महसूस कर रही हूं."

    संजल गवांडे ने साल 2011 में मुंबई यूनिवर्सिटी से मैकैनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की है. इसके बाद उन्होंने अमेरिका की मिशिगन टेक्नोलॉजिक यूनिवर्सिटी से आगे की पढ़ाई की. यहां उन्होंने एयरोस्पेस के सबजेक्ट की पढ़ाई की. उन्होंने साल 2013 में फ़र्स्ट डिविजन के साथ अपनी मास्टर डिग्री कम्प्लीट की.

    इसके बाद वो विस्कोंसिन के फोन डू लाक स्थित मर्करी मरीन कंपनी में जॉब करने लगी जहां उन्होंने दो साल तक कार्य किया. यहां के बाद संजल ने कैलिफ़ोर्निया स्थित टोयोटा रेसिंग डिवेलपमेंट को ज्वाइन कर लिया. इसी दौरान संजल ने फ़्लाइंग लैसन लेना भी शुरू कर दिया और जून 2016 में विमान पाइलट का अपना लाइसेन्स भी प्राप्त किया.

    ये भी पढ़ें: टेनिस स्टार सानिया मिर्जा बनीं 10 साल का दुबई गोल्डन वीजा पाने वाली तीसरी भारतीय

    इसके बाद संजल गवांडे ने NASA में एड्मिशन के लिए अप्लाई किया. हालांकि सिटिजनशिप को लेकर किन्हीं तकनीकी कारणों से उनकी ऐप्लिकेशन मंज़ूर नहीं हो पाई थी. इसके बाद उन्होंने ब्लू ऑरिजिन में जॉब के लिए अप्लाई किया. यहां सिस्टम इंजीनियर के पद पर उनका सेलेक्शन हो गया और अब वो जेफ बेजोस और उनकी कंपनी के इस सपने को पूरा करने वाली टीम का हिस्सा हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज