• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • कनाडा में इस सिख नेता के बिना सरकार नहीं बना पाएंगे जस्टिन ट्रूडो

कनाडा में इस सिख नेता के बिना सरकार नहीं बना पाएंगे जस्टिन ट्रूडो

जगमीत ने सोमवार की रात पीएम जस्टिन ट्रूडो से फोन पर बात की थी. उनका कहना है कि वो ट्रूडो को समर्थन देने से जरा भी नहीं हिचकेंगे.

जगमीत ने सोमवार की रात पीएम जस्टिन ट्रूडो से फोन पर बात की थी. उनका कहना है कि वो ट्रूडो को समर्थन देने से जरा भी नहीं हिचकेंगे.

जगमीत जिस एनडीपी के नेता हैं उसकी स्‍थापना सन् 1961 में हुई थी. 1 अक्‍टूबर 2017 को जगमीत ने इसकी कमान संभाली थी. इसी समय जगमीत ने साल 2019 के चुनावों में हिस्‍सा लेना का ऐलान भी कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    टोरंटो. इस बार भी कनाडा चुनाव (Canada Election) में बसे सिखों और पंजाबी समुदाय के बीच जाना-माना नाम जगमीत सिंह (Jagmeet Singh) ‘किंगमेकर’ साबित हुए हैं. उनकी नेशनल डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) को चुनाव में 25 सीटें मिली हैं. जगमीत की पार्टी चुनाव में उस दल के तौर पर सामने आई है, जिसके बिना जस्टिन ट्रूडो (Justin Trudeau) के लिए संसद की तरफ कदम बढ़ाना कुछ मुश्किल हो जाता.

    जगमीत ने सोमवार की रात पीएम जस्टिन ट्रूडो से फोन पर बात की थी. उनका कहना है कि वो ट्रूडो को समर्थन देने से जरा भी नहीं हिचकेंगे. उनका मकसद अपने कामों को पूरा करना है और ट्रूडो उनकी प्राथमिकताओं से वाकिफ हैं. हालांकि, हाउस ऑफ कॉमन्‍स में एनडीपी को उम्‍मीद से कम सीटें मिली हैं. साल 2019 में हुए चुनावों में एनडीपी को 24 सीटें मिली थीं.

    बाइडन प्रशासन में भारत के साथ साझेदारी के लिए वास्तविक प्रयास हो रहे हैं: निशा बिस्वाल

    जगमीत जिस एनडीपी के नेता हैं उसकी स्‍थापना सन् 1961 में हुई थी. 1 अक्‍टूबर 2017 को जगमीत ने इसकी कमान संभाली थी. इसी समय जगमीत ने साल 2019 के चुनावों में हिस्‍सा लेना का ऐलान भी कर दिया. जगमीत ने उस समय कहा था कि वह ट्रूडो की लिबरल पार्टी के खिलाफ किस्‍मत आजमाएंगे. चुनावों से पहले कुछ विश्‍लेषक उन्‍हें देश के अगले पीएम के तौर पर भी देख रहे थे.

    जगमीत का जन्‍म कनाडा में ही हुआ है. जहां देश में ज्‍यादातर सिख राजनेता भारत से आकर कनाडा में बसे हैं, तो सिंह पहले ऐसे सिख नेता हैं जो यहीं जन्‍में हैं. 2 जनवरी 1979 को उनका जन्‍म कनाडा के स्‍कारबोरो में हुआ था. उनके माता-पिता पंजाब से जाकर बसे थे.

    27 साल की सना रामचंद गुलवानी बनीं पाकिस्तान की पहली हिंदू अफसर बिटिया

    साल 2001 में सिंह ने यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्‍टर्न ओंटारियो से बायोलॉजी में बीएससी किया था. इसके बाद साल 2005 यॉर्क यूनिवर्सिटी से उन्‍होंने लॉ की डिग्री ली. सिंह जो सूट और पगड़ी पहनते हैं, वे अब कनाडा की राजनीति का ब्रांड बन चुके हैं. साल 2017 में अमेरिकी मैगजीन जीक्‍यू के साथ इंटरव्‍यू ने बताया था कि उनके पास बहुत सी रंग-बिरंगी पगड़‍ियां हैं और उनके थ्री पीस सूट अब पॉलिटिकल ब्रांड का हिस्‍सा हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज