Home /News /world /

भारतीय मूल के पादरी इंग्लैंड में बिशप हुए नियुक्त

भारतीय मूल के पादरी इंग्लैंड में बिशप हुए नियुक्त

प्रतीकात्मक फोटो.

प्रतीकात्मक फोटो.

केरल में जन्मे साजू ने बेंगलुरु में दक्षिणी एशिया बाइबिल कॉलेज में शिक्षा प्राप्त की, जिसके बाद उन्होंने विक्लिफ हॉल, ऑक्सफोर्ड में मिनिस्ट्री के लिए प्रशिक्षण प्राप्त किया. उन्होंने ब्लैकबर्न सूबे में सेंट थॉमस, लैंकेस्टर में अपनी सेवा दी जिसके बाद 2009 में इंग्लैंड के चर्च में उन्हें पादरी नियुक्त किया गया.

अधिक पढ़ें ...

    लंदन. दक्षिण भारत के सीरियन ऑर्थोडॉक्स चर्च में पले-बढ़े भारतीय मूल के एक पादरी को मध्य इंग्लैंड में लॉफबोरो का नया बिशप नियुक्त किया गया है. रेवरेंड मलयिल लुकोस वर्गीस मुथलली दक्षिणी इंग्लैंड के रोचेस्टर में स्थित सेंट मार्क गिलिंगम चर्च के पादरी हैं. उन्हें साजू के नाम से जाना जाता है.

    ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से शुक्रवार को जारी एक बयान के मुताबिक लीसेस्टर डायोसी के रूप में साजू की नियुक्ति को महारानी एलिजाबेथ द्वितीय द्वारा अनुमोदित किया गया है.

    ब्रिटिश सेना की सिख कैप्टन हरप्रीत चंडी दक्षिणी ध्रुव के लिए रवाना

    डाउनिंग स्ट्रीट की ओर से जारी बयान के मुताबिक महारानी ने सेंट मार्क गिलिंगम चर्च के पादरी रेवरेंड मलयिल लुकोस वर्गीस मुथलली (साजू) को लॉफबोरो का नया बिशप नियुक्त करने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी है.

    14 साल की भारतीय बच्ची ने COP26 समिट दुनिया के नेताओं को सुनाई खरी-खरी

    केरल में जन्मे साजू ने बेंगलुरु में दक्षिणी एशिया बाइबिल कॉलेज में शिक्षा प्राप्त की, जिसके बाद उन्होंने विक्लिफ हॉल, ऑक्सफोर्ड में मिनिस्ट्री के लिए प्रशिक्षण प्राप्त किया. उन्होंने ब्लैकबर्न सूबे में सेंट थॉमस, लैंकेस्टर में अपनी सेवा दी जिसके बाद 2009 में इंग्लैंड के चर्च में उन्हें पादरी नियुक्त किया गया.

    साजू इंग्लैंड के किसी चर्च में बिशप नियुक्त होने वाले सबसे युवा बिशप होंगे, जब अगले वर्ष 42 साल की उम्र में उनकी नियुक्ति होगी. (एजेंसी इनपुट)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर