होम /न्यूज /दुनिया /माइक्रोसॉफ्ट CEO नडेला को 'ग्लोबल बिजनेस सस्टेनेबिलिटी लीडरशिप' के लिए 'सीके प्रहलाद' पुरस्कार

माइक्रोसॉफ्ट CEO नडेला को 'ग्लोबल बिजनेस सस्टेनेबिलिटी लीडरशिप' के लिए 'सीके प्रहलाद' पुरस्कार

सत्या नडेला भारतीय मूल के अमेरिकी बिजनेस एक्जीक्यूटिव हैं. नडेला को साल 2014 में में माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनाया गया था. साल 2019 में नडेला को फाइनेंशियल टाइम्स पर्सन ऑफ द ईयर का खिताब मिला था. इसके बाद इस साल नडेला को ग्लोबल इंडियन बिजनेस आइकन का सम्मान भी दिया गया था. नडेला कंपनी के उन कर्मचारियों में से एक थे, जिन्होंने फर्म को क्लाउड कंप्यूटिंग के बारे में सजेशन दिया था. इसके बाद कंपनी ने अपने टाइम और उनके पास उलपब्ध संसाधनों को इसमें लगा दिया. . (AP)

सत्या नडेला भारतीय मूल के अमेरिकी बिजनेस एक्जीक्यूटिव हैं. नडेला को साल 2014 में में माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनाया गया था. साल 2019 में नडेला को फाइनेंशियल टाइम्स पर्सन ऑफ द ईयर का खिताब मिला था. इसके बाद इस साल नडेला को ग्लोबल इंडियन बिजनेस आइकन का सम्मान भी दिया गया था. नडेला कंपनी के उन कर्मचारियों में से एक थे, जिन्होंने फर्म को क्लाउड कंप्यूटिंग के बारे में सजेशन दिया था. इसके बाद कंपनी ने अपने टाइम और उनके पास उलपब्ध संसाधनों को इसमें लगा दिया. . (AP)

भारतीय-अमेरिकी प्रह्लाद को सम्मानित करने के लिए ‘कॉर्पोरेट इको फोरम’ (सीईएफ) के आग्रह पर 2010 में इस पुरस्कार की शुरुआत ...अधिक पढ़ें

    वॉशिंगटन. माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ और भारतवंशी सत्य नडेला (Microsoft CEO Satya Nadella) को ‘ग्लोबल बिजनेस सस्टेनेबिलिटी लीडरशिप’ (Global Business Sustainability Leadership) के लिए इस साल प्रतिष्ठित ‘सीके प्रहलाद’ पुरस्कार (C K Prahalad Award) से सम्मानित किया जाएगा.

    मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय-अमेरिकी प्रह्लाद को सम्मानित करने के लिए ‘कॉर्पोरेट इको फोरम’ (सीईएफ) के आग्रह पर 2010 में इस पुरस्कार की शुरुआत की गई थी. प्रह्लाद फोरम के संस्थापक सलाहकार बोर्ड सदस्य थे. यह प्रतिष्ठित पुरस्कार असाधारण, विश्व स्तर पर निजी क्षेत्र में किए गए महत्वपूर्ण कार्यों को मान्यता देता है जो स्थिरता, नवाचार और दीर्घकालिक व्यावसायिक सफलता के बीच मौलिक संबंध का उदाहरण है.

    माइक्रोसॉफ्ट के चार शीर्ष सदस्यों- नडेला, कम्पनी के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष ब्रैड स्मिथ, मुख्य वित्तीय अधिकारी एमी हुड और मुख्य पर्यावरण अधिकारी लुकास जोप्पा- को 2030 तक माइक्रोसॉफ्ट को कार्बन नकारात्मक कम्पनी में बदलने के उद्देश्य के लिए काम करने पर यह प्रतिष्ठित पुरस्कार दिया गया है.

    सीईएफ के संस्थापक एमआर रंगास्वामी ने कहा कि नडेला, हुड, स्मिथ और जोप्पा ने उल्लेखनीय काम किया है. यह पहली बार है जब हमने सीईओ/अध्यक्ष/सीएफओ/पर्यावरण अधिकारी का ऐसा गठबंधन देखा है.

    Tags: Microsoft, NRI, Satya Nadella, World news in hindi

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें