लाइव टीवी

क्यों खास है डोनाल्ड ट्रंप के साथ चलने वाला ब्रीफकेस? जानें क्या होता है इसमें

News18Hindi
Updated: February 21, 2020, 9:15 AM IST
क्यों खास है डोनाल्ड ट्रंप के साथ चलने वाला ब्रीफकेस? जानें क्या होता है इसमें
अमेरिकी राष्ट्रपति के हर दौरे में यह ब्रीफकेस उनके साथ रहता है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की सिक्योरिटी में कोई कसर नहीं छोड़ी जाती. उनके साथ एक खास ब्रीफकेस भी चलता है जिसमें कुछ खास कोड्स होते हैं और इसे 'न्यूक्लियर फुटबॉल' भी कहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2020, 9:15 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  (Donald Trump) और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप (Melania Trump) 24-25 फरवरी के दो दिवसीय दौरे के लिए भारत आएंगे. दौरे के मद्देनजर ट्रंप की सुरक्षा को लेकर चौकसी बरती जा रही है. ट्रंप की सुरक्षा के लिए उनकी टीम भी साथ आएगी लेकिन एक खास चीज की चर्चा सबसे ज्यादा हो रही है और यह है 'न्यूक्लियर फुटबॉल.'

दरअसल, अमेरिकी राष्ट्रपति की सुरक्षा में 'न्यूक्लियर फुटबॉल' नाम का एक ब्रीफकेस अफसर हमेशा साथ लिए रहते हैं. काले रंग के इस टॉप सिक्रेट ब्रीफकेस को दुनिया का शक्तिशाली ब्रीफकेस माना जाता है, जो पलभर में दुनिया को तबाह कर सकता है.

किताब के तौर पर लिखी हैं कोड्स!
माना जाता है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जहां भी जाते हैं, उनके पास न्यूक्लियर कंट्रोल के कोड्स रहते हैं. कोड्स उसी एक ब्रीफकेस में रहते हैं. यानी उनके साथ चलता है. इसीलिए इस ब्रीफकेस को न्यूक्लियर फुटबॉल कहा जाता है. दावा किया जाता है कि इमसें अमेरिकी परमाणु बम हमले के कोड्स के अलावा, हमले की पूरी योजना और निशानों की जानकारी होती है. यह सब एक किताब के तौर पर लिखी हुई है.



इसी ब्रीफकेस में एक कार्ड भी होता है जिस पर परमाणु बम हमले की पुष्टि करने वाले कोड्स लिखे गए होते हैं. इसको न्यूक्लियर बिस्किट भी कहा जाता है. इस कार्ड में अलार्म लगे होते हैं. इसके साथ ही ब्रीफकेस के अंदर ही एक एंटीना होता है जिसके जरिये राष्ट्रपति दुनिया में कहीं से भी तत्काल बातचीत कर सकता है.

यह भी पढ़ें: मुंबई में क्यों तीन घंटे तक उड़ने नहीं दिया गया था ट्रंप का प्राइवेट प्लेन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 21, 2020, 8:22 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर