Home /News /world /

Omicron: क्‍या कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट भी लोगों को पहुंचाएगा अस्‍पताल? खोजने वाली डॉक्‍टर ने किया बड़ा दावा

Omicron: क्‍या कोरोना का ओमिक्रॉन वेरिएंट भी लोगों को पहुंचाएगा अस्‍पताल? खोजने वाली डॉक्‍टर ने किया बड़ा दावा

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में बड़ी संख्‍या में लोगों को अस्‍पताल में होना पड़ा था भर्ती. (Pic- AP)

कोरोना वायरस की दूसरी लहर में बड़ी संख्‍या में लोगों को अस्‍पताल में होना पड़ा था भर्ती. (Pic- AP)

Omicron Variant of Coronavirus: दक्षिण अफ्रीकी महिला डॉक्‍टर एंजेलिक कोटजी (Angelique Coetzee) ने कहा है कि जब वह प्रिटोरिया में निजी प्रैक्टिस कर रही थीं तो उनके पास काफी ऐसे मरीज आए जिनमें कोरोना के लक्षण पहले के मुकाबले कुछ अलग थे, लेकिन यह हल्‍के थे. उनका कहना है कि इन मरीजों में पल्‍स रेट तेज थी, लेकिन इनमें से किसी को भी स्‍वाद और महक जाने जैसे लक्षण नहीं थे. उन्‍होंने दावा किया है कि उनके करीब दो दर्जन मरीजों में नए वेरिएंट के लक्षण मिले थे.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) के सामने आने के बाद से दुनिया का लगभग हर देश चिंतित है. कुछ देशों ने तो सावधानी बरतते हुए अपने यहां प्रतिबंधों के ऐलान की शुरुआत भी कर दी है. लोगों को कोरोना महामारी (Covid 19) की दूसरी लहर के दौरान मची तबाही जैसे खतरे की आशंका फिर दिख रही है. ओमिक्रॉन की पहचान दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में की गई है. इसकी पहचान करके इसे दुनिया के सामने लाने वाली दक्षिण अफ्रीकी महिला डॉक्‍टर एंजेलिक कोटजी (Angelique Coetzee) ने खुद इसके लक्षणों और प्रभावशीलता के बारे में बताया है.

    डॉ. एंजेलिक कोटजी दक्षिण अफ्रीकी मेडिकल एसोसिएशन की अध्‍यक्ष भी हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीजों को अस्‍पताल में भर्ती होने की जरूरत पर भी डॉक्‍टर एंजेलिक ने बात की है. उन्‍होंने कहा है कि उनके कुछ मरीजों को पहले बुखार और पल्‍स रेट तेज थी. लेकिन दो दिन के बाद उनकी हालत पहले से काफी बेहतर हो गई थी. उनका दावा है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित व्‍यक्ति घर पर भी ठीक हो सकता है. उसे अस्‍पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

    उनका कहना है कि जब वह प्रिटोरिया में निजी प्रैक्टिस कर रही थीं तो उनके पास काफी ऐसे मरीज आए जिनमें कोरोना के लक्षण पहले के मुकाबले कुछ अलग थे लेकिन यह हल्‍के थे. उनका कहना है कि इन मरीजों में पल्‍स रेट तेज थी, लेकिन इनमें से किसी को भी स्‍वाद और महक जाने जैसे लक्षण नहीं थे. उन्‍होंने दावा किया है कि उनके करीब दो दर्जन मरीजों में नए वेरिएंट के लक्षण मिले थे. वे सभी तंदुरुस्‍त पुरुष थे. लेकिन उनमें से अधिकांश काफी सुस्‍त हो गए थे और आधों को तो वैक्‍सीन भी नहीं लगी थी.

    डॉक्‍टर एंजेलिक ने चिंता जताई है कि कोरोना वायरस का यह नया वेरिएंट बुजुर्गों और उन लोगों को अधिक प्रभावित कर सकता है, जिन्‍हें अन्‍य गंभीर बीमारियां हैं. उनका कहना है कि लोगों को वैक्‍सीन जरूर लगवानी चाहिए. अगर वैक्‍सीन ना लगवाने वाले लोग कोरोना के नए वेरिएंट से संक्रमित होते हैं तो यह खतरे की बात हो सकती है.

    वहीं वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि वायरस का यह स्वरूप पहले सामने आए स्वरूपों से ज्यादा खतरनाक है या नहीं. नए वेरिएंट की पहचान दक्षिण अफ्रीका के अनुसंधानकर्ताओं ने कुछ दिन पहले की थी और अभी तक इसके ज्यादा संक्रामक होने या इससे मरीज के गंभीर रूप से बीमार पड़ने या इसके टीके के असर को नकारने जैसी जानकारियां उपलब्ध नहीं हो पाई हैं.

    Tags: Coronavirus, COVID 19, Omicron, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर