Home /News /world /

डेल्टा से ज्यादा जानलेवा हो सकता है ओमिक्रॉन, हेल्थ सर्विस पर पड़ेगी मार, मेडिकल एक्सपर्ट की रिपोर्ट

डेल्टा से ज्यादा जानलेवा हो सकता है ओमिक्रॉन, हेल्थ सर्विस पर पड़ेगी मार, मेडिकल एक्सपर्ट की रिपोर्ट

Omicron Image:डेल्टा से ज्यादा गंभीर हो सकता है ओमिक्रॉन वेरिएंट, मेडिकल एक्सपर्ट का दावा

Omicron Image:डेल्टा से ज्यादा गंभीर हो सकता है ओमिक्रॉन वेरिएंट, मेडिकल एक्सपर्ट का दावा

Omicron Variant Could more Dangerous than Delta: कोरोना वायरस का ओमिक्रॉन वेरिएंट, पिछले वेरिएंट डेल्टा से भी ज्यादा घातक हो सकता है. साउथ अफ्रीका के मेडिकल एक्सपर्ट ने यह दावा किया है. अगर यह साबित हुआ कि ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा के मुकाबले में तेजी से फैलता है, तो संक्रमण के मामलों से तेजी से वृद्धि होगी और अस्पतालों पर दबाव बढ़ेगा.

अधिक पढ़ें ...

    केपटाउन: ओमिक्रॉन वेरिएंट (Omicron Variant) कोरना वायरस के पिछले वेरिएंट डेल्टा (Delta Variant) से भी ज्यादा घातक साबित हो सकता है. साउथ अफ्रीका में संक्रामक रोगों के अध्ययन से जुड़ी संस्था के निदेशक ने यह दावा किया है. उनका कहना है कि अगर ऐसा हुआ तो कोरोना संक्रमण (Corona) के मामलों में जबरदस्त तेजी देखने को मिलेगी और स्वास्थ्य सेवाओं पर इसकी गहरी मार पड़ेगी. दक्षिण अफ्रीका में ओमिक्रॉन वेरिएंट के बारे में पता चलने के बाद दुनिया के तमाम देशों में लोग इस वेरिएंट से खौफजदा हैं. संक्रमण के मामलों की रोकथाम के लिए कई देशों ने साउथ अफ्रीका से आने वाले यात्रियों पर ट्रैवल बैन लगा दिया है, साथ ही साउथ अफ्रीका से लगी अपनी सीमाओं को सील कर दिया है.

    न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को दिए एक इंटरव्यू में साउथ अफ्रीका नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्युनिकेबल डिसीज के कार्यवाहक एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर अडरियन पुरेन ने कहा कि, हमने सोचा कि क्या संक्रमण के मामले में ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा को पीछे छोड़ देगा? हालांकि हर वेरिएंट का अपना एक गुण और स्वभाव होता है. अगर यह साबित हुआ कि ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा के मुकाबले में तेजी से फैलता है, तो संक्रमण के मामलों से तेजी से वृद्धि होगी और अस्पतालों पर दबाव बढ़ेगा.

    वैक्सीन के प्रभाव पर असर डाल सकता है ओमिक्रॉन वेरिएंट?

    पुरेन ने कहा कि वैज्ञानिकों को 4 सप्ताह के अंदर इस बात का पता लगाना चाहिए कि ओमिक्रॉन वेरिएंट वैक्सीन द्वारा उत्पन्न इम्युनिटी या पूर्व के संक्रमण पर किस तरह असर डाल सकता है.  दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टर्स का कहना है कि सूखी खांसी, बुखार और रात में पसीना आना ओमिक्रॉन वेरिएंट के लक्षण हैं लेकिन मेडिकल एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन के प्रभाव को लेकर कुछ भी कहना अभी जल्दबाजी होगी.

    यह भी पढ़ें:  साउथ अफ्रीका से लौटी 2 फ्लाइट्स बन सकती है यूरोप में कोरोना विस्फोट का कारण, जानें कैसे

    बता दें कि कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट ने साउथ अफ्रीका में तीसरी लहर के दौरान काफी तबाही मचाई थी. इस साल जुलाई की शुरुआत में दक्षिण अफ्रीका में रोजाना कोविड-19 के 26 हजार ममाले सामने आए थे. अब ओमिक्रॉन वेरिएंट देश में कोरोना की चौथी लहर का कारण बन सकता है. फिलहाल देश में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं.

    Tags: Corona, COVID-19 INDIA, Omicron variant

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर