लाइव टीवी

चिली के राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग के साथ सड़कों पर उतरे लाखों प्रदर्शनकारी

भाषा
Updated: October 26, 2019, 11:34 AM IST
चिली के राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग के साथ सड़कों पर उतरे लाखों प्रदर्शनकारी
प्रदर्शनकारियों ने की चिली के राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग

राष्ट्रपति ने ट्वीट करके प्रदर्शनकारियों से कहा कि उन्होंने संदेश सुन लिया है, साथ ही उन्होंने इन प्रदर्शनों को सकारात्मक और बदलाव का जरिया भी बताया है.

  • Share this:
सैंटियागो. चिली (Chile) के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा (Sebastian Pinera) के इस्तीफे और आर्थिक सुधारों की मांग के साथ शुक्रवार को 10 लाख से अधिक लोग सड़कों पर उतर आए. इसे अब तक का सबसे बड़ा प्रदर्शन कहा जा रहा है. यहां पिछले एक सप्ताह से हिंसक प्रदर्शन जारी हैं. राष्ट्रपति ने ट्वीट करके प्रदर्शनकारियों से कहा कि उन्होंने संदेश सुन लिया है, साथ ही उन्होंने इन प्रदर्शनों को सकारात्मक और बदलाव का जरिया भी बताया है.

सैंटियागो (Santiago) के गवर्नर कार्ला रुबिलर ने ट्विटर पर इसे एक ऐतिहासिक दिन करार देते हुए नये चिली के सपने को दर्शाने वाले... एक शांतिपूर्ण मार्च के तौर पर इसकी सराहना की. रुबिलर ने कहा कि देश भर में एक लाख से अधिक लोगों ने प्रदर्शन किया, जबकि सैंटियागो के टाउन हॉल ने पुलिस के आंकड़ों का हवाला देते हुए राजधानी में मार्च करने वालों लोगों की संख्या 8.20 लाख बताई.

चिली में लोग पिछले एक सप्ताह से बढ़ती सामाजिक-आर्थिक असमानता को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. ये लोग कम मजदूरी और पेंशन, मंहगी स्वास्थ्य सेवाएं और शिक्षा तथा अमीर-गरीब के बीच बढ़ती खाई के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं.

सैंटियागो में साल 1990 के बाद पहली बार अब सैनिकों की तैनाती की गई है. उस वक़्त अगस्टो पिनोशे की तानाशाही के बाद चिली में जब लोकतंत्र की बहाली हुई थी. राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा ने टेलीविजन पर कहा कि उन्होंने देश के नागरिकों की आवाज़ विनम्रता से सुनी, जीवन यापन पर बढ़ रही लागत को लेकर लोगों में असंतोष है. प्रदर्शनों को लेकर पिनेरा की प्रतिक्रिया की आलोचना हुई है.

जिस वक़्त सैंटियागो में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प चल रही थी उसी दौरान राष्ट्रपति की एक तस्वीर के सामने आने पर उनकी सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हुई थी. आलोचकों ने कहा था कि तस्वीर दर्शाती है कि एक नेता चिली की आम जनता के संपर्क में नहीं है. बताया जा रहा है कि यह तस्वीर राष्ट्रपति के पोते के जन्मदिन पर की गई पार्टी के दौरान की थी. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें : हांगकांग की अदालत ने पुलिस के निजी विवरण को प्रकाशित करने पर लगाई रोक 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 11:34 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...