बड़ी खबर: आखिरी स्टेज में पहुंची कोरोना के खिलाफ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन

बड़ी खबर: आखिरी स्टेज में पहुंची कोरोना के खिलाफ ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन
सांकेतिक तस्वीर

Corona Vaccine: दुनिया भर में 140 से ज्यादा वैक्सीन पर इन दिनों काम चल रहा है. जिसमें से 13 वैक्सीन क्नीनिकल ट्रायल के दौर में है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 25, 2020, 12:07 PM IST
  • Share this:
लंदन. कोरोना वायरस (Coronavirus) ने दुनिया भर में कोहराम मचा रखा है. अब तक इस खतरनाक वायरस से 4 लाख 80 हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि करीब 90 लाख से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं. दुनिया भर के वैज्ञानिक कोरोना के खिलाफ वैक्सीन (Vaccine) बनाने में जुटे हैं. लेकिन किसी को अब तक कोई ठोस सफलता नहीं मिली है. इस बीच अच्छी खबर ये है कि कोरोना को लेकर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका जिस वैक्सीन पर काम कर रहे थे वो अब आखिरी स्टेज में पहुंच गया है. अब आखिरी चरण में क्लीनिकल टेस्ट किया जाएगा जिसमें ये पता लगाया जाएगा कि आखिर ये वैक्सीन कितनी कारगर है.

ट्रायल के अच्छे संकेत
अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक ब्रिटेन में अगले चरण में ये वैक्सीन 10,260 वयस्कों और बच्चों को दी जाएगी. अगर ये परीक्षण कामयाब होता है, तो ऑक्सफोर्ड इस साल के आखिर तक कोविड -19 वैक्सीन लॉन्च कर सकता है. ऑक्सफोर्ड के प्रमुख प्रोफेसर एंड्रयू पोलार्ड ने कहा, "क्लीनिकल ​​ट्रायल बहुत अच्छी तरह से आगे बढ़ रहा है. अब हम ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि वैक्सीन बुजुर्गों पर कितना असर करती है.' इस सप्ताह ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका में भी परीक्षण शुरू हुए हैं.

युद्ध स्तर पर हो रहा है काम
बता दें कि दुनिया भर में 140 से ज्यादा वैक्सीन पर इन दिनों काम चल रहा है. जिसमें से 13 वैक्सीन क्नीनिकल ट्रायल के दौर में है. जबकि बाकी वैक्सीन का अभी शुरुआती दौर का काम चल रहा है. कहा जाता है कि किसी वैक्सीन को तैयार करने में 10 साल का वक्त लग जाता है. इसके अलावा इसकी कामयाबी की गारंटी भी सिर्फ 6 फीसदी होती है. कोरोना जैसी महमारी से निपटने के लिए दुनिया भर के डॉक्टर और वैज्ञानिक युद्ध स्तर पर काम कर रहे हैं. ऐसे में ये वैक्सीन जल्द तैयार हो सकता है.



ये भी पढ़ें:- कोरोना के एक दिन में मिले 17 हजार के करीब नए मरीज, देश में 4.73 लाख केस

प्रिंस विलियम पहुंचे ऑक्सफोर्ड
बुधवार को प्रिंस विलियम ने भी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी का दौरा किया. यहां उन्होंने शोधकर्ताओं से मुलाकात की. उन्होंने लैब का दौरा किया, जहां प्रायोगिक वैक्सीन का उत्पादन हुआ है. बता दें कि इस वैक्सीन का टेस्ट 23 अप्रैल से शुरू हुआ. ब्रिटेन में 10,000 लोगों पर टीके का परीक्षण होगा, जिससे ये पता लगाया जा सके कि कोरोना के खिलाफ ये कितना कारगर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading