लाइव टीवी

पाक सेना ने कहा, राजनीतिक मसलों को देखने का वक्त नहीं

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 8:57 AM IST
पाक सेना ने कहा, राजनीतिक मसलों को देखने का वक्त नहीं
प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा राजनीतिक मसलों को देखने का वक्त नहीं (ANI-फोटो)

पाक सेना ने कहा राजनीतिक मुद्दों के लिए समय नही, सेना का स्पष्ट इशारा जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल के नेता मौलाना फज़ल-उर-रहमान (Maulana Fazal-ur-Rehman) के नेतृत्व में चल रहे विशाल प्रदर्शन पर था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 8:57 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तानी की सेना (Pakistan Army) ने बुधवार को कहा कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के मामलों में बेहद व्यस्त है, उसके पास किसी राजनीतिक मुद्दे को देखने का वक्त नहीं है. बता दें कि सेना का स्पष्ट इशारा जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल के नेता मौलाना फज़ल-उर-रहमान (Maulana Fazal-ur-Rehman) के नेतृत्व में चल रहे विशाल प्रदर्शन पर था.

मौलाना फज़ल-उर-रहमान (Maulana Fazal-ur-Rehman) पाकिस्तान के सबसे मंझे हुए नेताओं में से एक माने जाते हैं. आजकल मौलाना पाकिस्तान (Pakistan) में सबसे ज्यादा सुर्खियां बटोर रहे हैं. इसकी वजह है उनका अपने पुराने विरोधी इमरान खान के खिलाफ निकाला जा रहा 'आजादी मार्च'. ये प्रदर्शनकारी प्रधानमंत्री इमरान खान के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं.

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने समाचार चैनल ‘हम’ को दिए इंटरव्यू में यह बात कही. दरअसल, उनसे प्रश्न किया गया था कि क्या सेना प्रमुख मौलाना के प्रदर्शन में मध्यस्थता करेंगे.

रहमान ने दावा किया है कि पीएम इमरान खान (PM Imran Khan) ने 25 जुलाई 2018 हुआ आम चुनाव फर्जी है. पिछले चुनावों में जीत हासिल नहीं की थी बल्कि उनका चुनाव शक्तिशाली सैन्य ताकतों ने खुद ही कर लिया था. हालांकि उनके इस दावे को इमरान खान ने खारिज किया है.

दक्षिणपंथी जमीयत उलेमा-ए-इस्लाम फजल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने 27 अक्टूबर को अन्य विपक्षी दलों के नेताओं के साथ दक्षिणी सिंध प्रांत से 'आजादी मार्च' शुरू किया था. इस्लामाबाद में यह आंकड़ा तब और बढ़ गया जब इस रैली में रहमान के अलावा पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज, पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और अवामी नेशनल लीग के नेता भी शामिल हुए.

रहमान ने सरकार की कश्मीर नीति की आलोचना करते हुए कश्मीरियों को उनके हाल पर छोड़ देने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सरकार करतारपुर गलियारा खोलकर भारत के साथ दोस्ती कर रही है. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने रैली को संबोधित करते हुए कहा, समय आ गया है कि इस फर्जी सरकार से मुक्ति मिले. हम इमरान खान नियाजी को तब तक नहीं छोड़ेंगे जब तक कि पाकिस्तान उनसे मुक्त नहीं हो जाता.

ये भी पढ़ें : PAK नेता का दावा- नवाज शरीफ को यासिर अराफात की तरह दिया जा रहा धीमा जहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 8:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...