पाकिस्तान हाईकोर्ट ने सस्पेंड की JUD आतंकियों की सजा, हाफिज सईद के खास हैं दोनों

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड हाफिज सईद (फाइल फोटो)

दोनों आतंकियों अब्दुल रहमान मक्की और अब्दुस सलाम ने अपनी सजा को लाहौर हाई कोर्ट में चुनौती दी थी. लाहौर हाईकोर्ट (Lahore Highcourt) ने गुरुवार को दोनों की एक साल जेल की सजा को निलंबित कर दिया.

  • Share this:
    लाहौर. पाकिस्तान (Pakistan) की एक अदालत ने बृहस्पतिवार को आतंकवादी-वित्तपोषण के एक मामले में जमात-उद-दावा (Jamaat-Ud-Dawah) के दो वरिष्ठ नेताओं की एक साल की जेल की सजा को निलंबित कर दिया, जिन्हें 2008 के मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद (Hafiz Saeed) का करीबी सहयोगी माना जाता है. जून में लाहौर में आतंकवाद-रोधी अदालत (ATC) ने अब्दुल रहमान मक्की और अब्दुस सलाम को आतंकी वित्तपोषण के लिए एक साल की कैद की सजा सुनाई थी. एटीसी ने प्रत्येक पर 50,000 रुपये का जुर्माना भी लगाया था, जिसमें विफल रहने पर उन्हें और छह महीने की जेल काटने का आदेश दिया गया था.

    जेयूडी के इन नेताओं को आतंकवाद विरोधी अधिनियम 1997 के तहत दोषी ठहराया गया था. दोनों नेताओं ने लाहौर उच्च न्यायालय में अपनी सजा को चुनौती दी थी. अदालत के एक अधिकारी ने बताया, 'लाहौर उच्च न्यायालय ने आज अब्दुल रहमान मक्की और अब्दुस सलाम की एक-एक साल की सजा को निलंबित कर दिया और जमानत पर उन्हें रिहा करने का आदेश दिया.' उच्च न्यायालय की दो सदस्यीय खंडपीठ, जिसमें असजद जावेद गुरल और वहीद खान शामिल थे, ने बृहस्पतिवार को उनकी याचिका पर सुनवाई की और बचाव तथा अभियोजन पक्ष की दलीलें सुनने के बाद उसने मक्की और सलाम की याचिका स्वीकार कर ली और एटीसी की सजा को स्थगित करने का आदेश दिया. पीठ ने जमानत पर उनकी रिहाई का भी आदेश दिया.

    ये भी पढ़ें: पाकिस्तानी में सिख लड़की को मिली मुस्लिम शौहर के साथ रहने की इजाजत, भारत ने किया था विरोध

    संपत्ति जब्त करने का आदेश
    दोनों नेता लाहौर की कोट लखपत जेल में अपनी सजा काट रहे हैं. एटीसी के फैसले के अनुसार, दोनों नेताओं को आतंकवाद के वित्तपोषण का दोषी पाया गया था. वे धन इकट्ठा करते थे और प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा संगठन का वित्तपोषण करते थे. एटीसी ने आतंकवाद के वित्तपोषण के माध्यम से एकत्र किए गए धन से बनाई गई संपत्ति को जब्त करने का भी आदेश दिया था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.