लाइव टीवी

भारत-जापान संयुक्त बयान को PAK ने किया खारिज, कहा- ये पूरी तरह अनुचित

भाषा
Updated: December 3, 2019, 5:48 AM IST
भारत-जापान संयुक्त बयान को PAK ने किया खारिज, कहा- ये पूरी तरह अनुचित
भारत-जापान संयुक्त बयान को पाकिस्तान ने किया खारिज करते हुए कहा कि ये पूरी तरह अनुचित और अनावश्यक है.

भारत और जापान ( India & Japan ) ने विदेश तथा रक्षा मंत्री स्तर की शनिवार को हुई पहली वार्ता में पाकिस्तान से आतंकवाद से निपटने के लिए ठोस एवं स्थिर कार्रवाई करने को कहा था.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) ने पिछले सप्ताह नयी दिल्ली में जापान और भारत द्वारा जारी संयुक्त बयान (joint statement) को खारिज कर दिया है. भारत-जापान संयुक्त बयान में पाकिस्तान के  जिक्र को उसने अनावश्यक और पूरी तरह अनुचित बताया है. पाकिस्तान ने इस बयान पर अपनी गंभीर चिंता जताते हुए सोमवार को स्पष्ट रूप से किया है.

भारत और जापान ने विदेश तथा रक्षा मंत्री स्तर की शनिवार को हुई पहली वार्ता में पाकिस्तान से आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे रहे आतंकवादी नेटवर्कों से क्षेत्रीय शांति एवं सुरक्षा को पैदा हो रहे खतरों पर गहरी चिंता जताई थी और उससे आतंकवाद से निपटने के लिए ‘‘ठोस एवं स्थिर’’ कार्रवाई करने को कहा था.

पाकिस्तान का  जिक्र अनावश्यक
पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने एक बयान में कहा, ‘यह जिक्र अनावश्यक और पूरी तरह अनुचित था.’ बयान में कहा गया कि पाकिस्तान ने जापानी पक्ष को राजनयिक माध्यमों के जरिए संयुक्त बयान में अस्वीकार्य संदर्भ को खारिज किए जाने और इससे संबंधित गंभीर चिंता से अवगत करा दिया है.

गौरतलब है कि भारत एवं जापान ने विदेश और रक्षा मंत्री स्तर की पहली वार्ता में पाकिस्तान से आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दे रहे आतंकवादी संगठनों को क्षेत्रीय शांति के लिए खतरा बताया था. साथ ही पाकिस्तान से आतंकवाद के खिलाफ ‘ठोस एवं स्थिर’ कार्रवाई करने को कहा था. दोनों देशों ने पाकिस्तान से विशेष रूप से अपील की थी कि वह ‘वित्तीय कार्रवाई कार्य दल’ द्वारा बताए कदम उठाने समेत आतंकवाद से निपटने के लिए अपनी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं का ‘पूरा पालन’ करे.

ये भी पढ़ें:

 ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की सुनवाई में भाग लेने से व्हाइट हाउस का इनकारमेक्सिको: सुरक्षाकर्मियों और ड्रग्स माफिया के बीच झड़प, गोलीबारी में 21 की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 3, 2019, 5:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर