PAK : लोगों को डराने धमकाने वाला तालिबान 'रेडियो एफएम 98' अब कोरोना के खिलाफ उतरा

कभी तालिबान का रहा 'रेडियो एफएम 98' अब कोरोना के खिलाफ मैदान में उतर आया है.

कभी तालिबान का रहा 'रेडियो एफएम 98' अब कोरोना के खिलाफ मैदान में उतर आया है.

उत्तरी पाकिस्तान के दूरदराज के क्षेत्रों के लोगों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए 'रेडियो एफएम 98' का संचालन किया जा रहा है. कभी इस रेडियो के जरिये प्रांत में लोगों को तालिबानी शासन की ओर से डराया, धमकाया जाता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 5:38 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. दुनिया भर में फैली कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी से लोगों को बचाने और समाज में जागरूकता लाने के लिए अब पाकिस्‍तान (Pakistan) का 'रेडियो एफएम 98' भी मैदान में उतर आया है. कभी इसी रेडियो के जरिये तालिबान (Taliban) खैबरपख्‍तूनख्‍वा के लोगों को डराने-धमकाने का काम करते थे, लेकिन अब एक अहम मकसद के तहत इसका इस्‍तेमाल कोरोना के खिलाफ जंग में किया जा रहा है.

पहले रेडियो से धमकाया जाता था, अब जागरूकता फैलाई जाएगी
'जियो टीवी' की खबर के मुताबिक पख्तूनख्वा 'रेडियो एफएम 98' का उत्तरी पाकिस्तान के दूरदराज के क्षेत्रों के लोगों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देने के लिए इसका संचालन किया जा रहा है. कभी इस रेडियो के जरिये प्रांत में लोगों को तालिबानी शासन की ओर से डराया, धमकाया जाता था. एक तरह से कहें तो यह यहां आतंक का पर्याय बना हुआ था. मगर अब इससे लोग कोरोना की जानकारी हासिल करेंगे. गौरतलब है कि इससे पहले भी इसी तरह का एक रेडियो सामने आया था. इस रेडियो के जरिये लोग कोरोना से संबंधित अहम जानकारी हासिल कर पाएंगे. उन्‍हें इस वायरस से बचाव, इसकी रोकथाम और इसको लेकर अपनाए जाने वाले एहतियाती उपायों के बारे में बताया जाएगा.

गौरतलब है कि पाकिस्तान में कोरोना वायरस की वजह से अब तक जहां 15289 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं इससे देश में अब तक 335 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं खैबरपख्‍तूनख्‍वा में अब तक 2160 लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं. वहीं अब तक 114 लोग इसकी वजह से अपनी जान भी गंवा चुके हैं. वहीं स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से चेतावनी दी गई है कि मई के महीने में देश के हालात और भी बद्तर हो सकते हैं. ऐसे में सभी प्रांतों की सरकारें तरह तरह के तरीके अपना कर कोरोना की रोकथाम के उपाय कर रही हैं. इसके तहत लोगों को जागरूक किया जा रहा है और उन्‍हें इससे संबंधित जानकारी दी जा रही है.
ये भी पढ़ें - पाकिस्तान में कोरोना से भुखमरी के हालत, आलू भी हुए आम आदमी की पहुंच से दूर



                 जिस मौलाना ने औरतों के छोटे कपड़ों को बताया कोरोना की वजह वो खुद पहले सिंगर था

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज