PAK : विपक्षी नेताओं को समय देने पर टीवी चैनल के सिग्‍नल रोक दिए जाते हैं : रिपोर्ट

PAK : विपक्षी नेताओं को समय देने पर टीवी चैनल के सिग्‍नल रोक दिए जाते हैं : रिपोर्ट
पाकिस्‍तान में मीडिया संस्‍थानों को विज्ञापनों को वापस लेने की धमकी से डराया जाता है.

रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स के मुताबिक इसमें गिरावट वाले अन्य देशों में भारत शामिल हैं, जो पिछले साल 140 वें स्थान से फिसल कर 142 वे स्‍थान पर आ गया है. इसी तरह ईरान 173वें और अफगानिस्तान 122 वें नंबर पर आ गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2020, 6:40 PM IST
  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पत्रकारिता के वैश्विक संगठन रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (Reporters Without Borders) ने वर्ल्ड प्रेस फ्रीडम इंडेक्स यानी वर्ष 2020 की स्‍वतंत्र पत्रकारिता की फेहरिस्‍त जारी की है. इसके मुताबिक पाकिस्तान 180 देशों में से और तीन स्थान खिसककर 145 नंबर पर आ गया है. 'जुरात डॉट कॉम' की खबर के मुताबिक इसमें आगे कहा गया है कि पाकिस्‍तान में मीडिया संस्‍थानों को विज्ञापनों को वापस लेने की धमकी से डराया जाता है और जो टीवी चैनल विपक्षी प्रतिनिधियों को प्रसारण का समय देते हैं, उनके सिग्‍नल्‍स रोक दिए जाते हैं.

करीब एक दशक से पत्रकारों को लेकर यही हालात हैं
साथ ही यह भी कहा गया है कि 2019 में अपनी रिपोर्टिंग के कारण 4 पत्रकारों की हत्‍या कर दी गई, जबकि एक पत्रकार को 2020 में मार डाला गया. और करीब एक दशक से यही हालात हैं कि पत्रकारों के खिलाफ होने वाली हिंसा पर ध्‍यान नहीं दिया जाता. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस फेहरिस्‍त में सबसे पहला नंबर लगातार चौथे साल नॉर्वे का है. इसके बाद स्कैंडिनेवियाई देश आते हैं. वहीं इस फेहरिस्‍त में सबसे नीचे उत्तर कोरिया है. वहीं चीन ने अपना 177वां स्थान कायम रखा है.

रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स के मुताबिक इसमें गिरावट वाले अन्य देशों में भारत शामिल हैं, जो पिछले साल 140 वें स्थान से फिसल कर 142 वे स्‍थान पर आ गया है. इसी तरह ईरान 173वें और अफगानिस्तान 122 वें नंबर पर आ गए हैं.



ये भी पढ़ें - PAK : 742 नए मामले सामने के बाद कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 10,513 तक पहुंची



                PAK : बीमार बच्‍चे समेत पिता को किया हवालात में बंद, नहीं जाने दिया अस्‍पताल

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading