भारतीय सेना के जवाब से तिलमिलाए पाकिस्तानी नेता ने कहा- गोलाबारी नहीं बमबाज़ी कर रहा भारत, इमरान पर उठाए सवाल

पाकिस्तानी सैनिकों के बंकर को भारतीय सेना ने बनाया निशाना
पाकिस्तानी सैनिकों के बंकर को भारतीय सेना ने बनाया निशाना

Pok Ceasefire Violation: पाकिस्तान की सेना लगातार सीमा पर फायरिंग कर रही है. उसका मकसद है कि वह मौसम बिगड़ने से पहले आतंकियों की घुसपैठ कराने में सफल हो जाए लेकिन भारतीय सेना इन इरादों को कामयाब नहीं होने दे रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 14, 2020, 10:56 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. दीपावली के मौके पर भी पाकिस्तान (Pakistan) अपनी नापाक हरकत से बाज नहीं आया. आतंकियों की घुसपैठ कराने के इरादे से उसने पहले सीजफायर का उल्लंघन किया. इसके बाद जब भारतीय सैनिकों ने जवाब देना शुरू किया तो वह चारों खाने चित हो गया. एक ओर जहां  पाकिस्तान की सेना ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय सैनिकों ने नियंत्रण रेखा पर 'भारी गोलीबारी' की, जिसमें एक पाकिस्तानी सैनिक मारा गया और पांच अन्य घायल हुए हैं. वहीं स्थानीय अधिकारी और सांसद भी भारतीय सेना की कार्रवाई से अचंभित हैं. बता दें पाकिस्तान की सेना ने एक बयान में कहा कि 13 नवंबर को भारतीय सैनिकों ने 'नियंत्रण रेखा पर कई सेक्टरों में बिना उकसावे के संघर्षविराम का उल्लंघन किया और तोपों तथा भारी मोर्टारों सहित अंधाधुंध गोलाबारी की.'

बयान में कहा गया कि गोलाबारी में एक पाकिस्तानी सैनिक मारा गया और पांच अन्य घायल हो गए. इसके अलावा चार आम लोगों की भी मौत हुई है तथा 12 अन्य घायल हुए हैं. इसमें कहा गया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने भी नियंत्रण रेखा से लगी भारतीय चौकियों को निशाना बनाया.

वहीं पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के नागरिक सुरक्षा और आपदा प्रबंधन के सचिव सैयद शाहिद मोहिउद्दीन कादरी के अनुसार, भारतीय सैनिकों ने एक साथ नीलम और लेपा घाटियों में गोलाबारी शुरू की. भारतीय सेना ने मुज़फ़्फ़राबाद के नौसेरी सेक्टर तक  गोलीबारी शुरू की जिसके बाद नीलम घाटी शुरू होती है. पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबार डॉन के अनुसार  कादरी ने यह माना की यह भारतीय सेना की अब तक की सबसे भयानक कार्रवाई थी. कादरी ने कहा-'यह नीलम घाटी में अब तक का सबसे भारी गोलाबारी थी.'



इमरान खान पर उठे सवाल
कादरी ने कहा कि लीपा घाटी और झेलम घाटी जिले के चाम और पांडु सेक्टरों में भी भारी गोलाबारी हुई नीलम के डिप्टी कमिश्नर राजा महमूद शाहिद ने डॉन को बताया कि कहा कि गोलाबारी से उनके जिले  में चार नागरिकों की मौत हो गई. डीसी शाहिद के मुताबिक, नीलम घाटी में महिलाओं और बच्चों सहित कम से कम 25 अन्य नागरिक घायल हो गए. उन्होंने कहा कि कम से कम 15 घर, कुछ बहुमंजिला, और एक दुकान जलकर राख हो गई, जबकि 24 घर और एक निजी गेस्टहाउस घाटी  क्षतिग्रस्त हो गए.

पाकिस्तान के नेता सलीम मांडवीवाला ने कहा कि भारतीय गोलाबारी के कारण उन्हें अपना एलओसी दौरा रद्द करने के लिए मजबूर होना पड़ा. उन्होंने कहा, 'यह गोलाबारी भी नहीं है; भारत बम फेंक रहा है.'

वहीं गुलाम जम्मू-कश्मीर के प्रधानमंत्री रजा मुहम्मद फारूक हैदर खान  ने पाक के प्रधानमंत्री इमरान खान से सीधा सवाल किया. रजा ने लिखा-' 5 निर्दोष नागरिक मारे गए और 31 घायल हो गए.  संपत्ति का नुकसान हुआ. जिसके चलते मुझे प्रधानमंत्री इमरान खान से सवाल पूछने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है कि आखिर कब तक हम ऐसे नुकसान उठाते रहेंगे?'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज