PM इमरान खान को बड़ा झटका, जनरल बाजवा ही बने रहेंगे पाकिस्तानी आर्मी चीफ

News18Hindi
Updated: August 19, 2019, 8:48 PM IST
PM इमरान खान को बड़ा झटका, जनरल बाजवा ही बने रहेंगे पाकिस्तानी आर्मी चीफ
जनरल कमर जावेद बाजवा अब अगले 3 साल तक पाकिस्तानी सेना के प्रमुख बने रहेंगे. पाकस्तानी सरकार ने ये फैसला क्षेत्रीय सुरक्षा वातावरण बनाए रखने के लिए लिया है.

पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान सरकार (Imran Khan Government) ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa) का कार्यकाल 3 साल के लिए बढ़ा दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 19, 2019, 8:48 PM IST
  • Share this:
पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान सरकार (Imran Khan Government) ने पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा (General Qamar Javed Bajwa)  का कार्यकाल 3 साल के लिए बढ़ा दिया है. जनरल कमर जावेद बाजवा अब अगले 3 साल तक पाकिस्तानी सेना के प्रमुख (Pakistan Army Chief) बने रहेंगे. पाकिस्तानी सरकार ने ये फैसला क्षेत्रीय सुरक्षा वातावरण बनाए रखने के लिए लिया है.

प्रधानमंत्री इमरान खान के कार्यालय से जारी की गई एक अधिसूचना में कहा गया कि 'जनरल क़मर जावेद बाजवा को वर्तमान कार्यकाल पूरा होने की तारीख से तीन साल के लिए एक और कार्यकाल के लिए सेनाध्यक्ष नियुक्त किया जाता है. यह निर्णय क्षेत्रीय सुरक्षा वातावरण को ध्यान में रखते हुए लिया गया है.'

Pakistan army chief, Imran Khan
प्रधानमंत्री इमरान खान के कार्यालय से जारी की गई अधिसूचना (Credit- Twitter)


इमरान खान का नहीं था समर्थन

सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान 3 साल के लिए बाजवा का कार्यकाल बढ़ाए जाने के पक्ष में नहीं थे. वह चाहते थे कि बाजवा का कार्यकाल सिर्फ 1 साल के लिए बढ़ाया जाए लेकिन बाजवा ने कार्यकाल बढ़ाने के लिए इमरान खान पर दबाव बनाया जिसके कारण यह फैसला लिया गया. बता दें 58 साल के बाजवा इस साल रिटायर होने वाले थे.

जनरल कमर जावेद बाजवा को पाकिस्तान की नवाज शरीफ सरकार (Nawaz Sharif Government) ने नवंबर 2016 को सेनाध्यक्ष नियुक्त किया था. उल्लेखनीय है कि बाजवा, खान की पहली अमेरिका यात्रा के समय उनके साथ गए थे जहां प्रधानमंत्री ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी.

खान ने एक अभूतपूर्व कदम के तहत बाजवा को राष्ट्रीय विकास परिषद् का सदस्य भी मनोनीत किया था. पाकिस्तान में सेना प्रमुख के पद पर नियुक्ति प्रधानमंत्री और उनकी सरकार का विशेषाधिकार होती है. यहां सबसे वरिष्ठ सैन्य अधिकारी को सेना प्रमुख बनाने की परंपरा का पालन नहीं किया जाता .
Loading...

भारत-पाक तनाव के बीच लिया गया है ये फैसला
बाजवा को ऐसे समय में सेवा विस्तार दिया गया है जब जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के फैसले के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध खराब दौर से गुजर रहे हैं.

कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पाकिस्तान ने नयी दिल्ली के साथ अपने राजनयिक संबंधों का दर्जा कम करने का फैसला किया था और भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया था. इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने कारोबारी रिश्तों पर भी विराम लगा दिया.

उधर, भारत अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को साफ शब्दों में कह चुका है कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने का उसका फैसला पूरी तरह उसका आंतरिक मामला है. भारत ने पाकिस्तान को भी सलाह दी है कि वह सचाई को स्वीकार करे.

ये भी पढ़ें-
इमरान सरकार का एक साल: कश्मीर सहित इन मुद्दों पर फेल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 5:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...