Home /News /world /

बदल गए PAK के सुर! अफगानिस्तान में मानवीय संकट को खत्म करने की कर रहा है अपील

बदल गए PAK के सुर! अफगानिस्तान में मानवीय संकट को खत्म करने की कर रहा है अपील

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान के हालात बिगड़ते जा रहे हैं.

तालिबान के कब्जे के बाद अफगानिस्तान के हालात बिगड़ते जा रहे हैं.

जनरल बाजवा ने कहा, 'मानवीय संकट से बचने के लिए अफगानिस्तान पर वैश्विक तालमेल की जरूरत है.' पोंटेकोर्वो ने सफल निकासी अभियानों और क्षेत्रीय स्थिरता के प्रयासों सहित अफगान स्थिति में पाकिस्तान की भूमिका की सराहना की.

    इस्लामाबाद. तालिबान में अफगानिस्तान के कब्जे के बाद पाकिस्तान लगातार उसका समर्थन कर रहा है. इसी बीच पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने बुधवार को अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अफगानिस्तान में चल रहे मानवीय संकट को रोकने के लिए एकजुट होने का आग्रह किया, जहां अब तालिबान का शासन है. सेना ने एक बयान में कहा कि जनरल बाजवा ने रावलपिंडी में सेना मुख्यालय में उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के वरिष्ठ असैन्य प्रतिनिधि स्टेफानो पोंटेकोर्वो के साथ हुई मुलाकात के दौरान यह अपील की.

    बयान में कहा गया है कि उनकी बैठक के दौरान क्षेत्र में आपसी हित, शांति और स्थिरता और अफगानिस्तान की स्थिति से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई. जनरल बाजवा ने कहा, ‘मानवीय संकट से बचने के लिए अफगानिस्तान पर वैश्विक तालमेल की जरूरत है.’ पोंटेकोर्वो ने सफल निकासी अभियानों और क्षेत्रीय स्थिरता के प्रयासों सहित अफगान स्थिति में पाकिस्तान की भूमिका की सराहना की.

    उन्होंने अफगानिस्तान को लेकर पाकिस्तान के साथ सहयोग बढ़ाने और सभी द्विपक्षीय मुद्दों के लिए नाटो देशों द्वारा नियमित जुड़ाव का भी आश्वासन दिया. पाकिस्तान दुनिया को अफगानिस्तान में तालिबान शासन के साथ जुड़ने के लिए मनाने की कोशिश कर रहा है क्योंकि उसे पड़ोसी देश में भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की कमी के कारण मानवीय संकट पैदा होने का डर है.

    Tags: Afghanistan, Afghanistan latest news, Afghanistan news, India pakistan, Pakistan, Pakistan army, Pakistan latest news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर