पाक स्टॉक एक्सचेंज पर हमला: 'BLA के हमलों का दायरा बढ़ा'

पाक स्टॉक एक्सचेंज पर हमला: 'BLA के हमलों का दायरा बढ़ा'
स्टॉक एक्सचेंज पर हमले में इस्तेमाल की गई कार (फोटो- AP)

रिपोर्ट का दावा है कि BLA की मजीद ब्रिगेड का गठन CPEC कॉरिडोर और पाकिस्तान (Pakistan) में चीन के प्रोजेक्ट्स (Chinese Projects) को निशाना बनाने के लिए किया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. 29 जून को कराची (Karachi) में हुए आतंकी हमले (Terrorist Attack) से साफ हो गया है कि बलोच लिबरेशन आर्मी (Baloch Liberation Army) ने न सिर्फ अपने हमलों में तेज़ी लायी है, बल्कि आतंकी हमलों का दायरा भी बढ़ाया है. पाक नेशनल इनिशिएटिव अगेंस्ट आर्गनाइज्ड क्राइम (Pak National Initiative Against Organised Crime) की रिपोर्ट में यह कहा गया है कि BLA के हमले अब बलोचिस्तान तक सीमित नहीं है. कराची स्टॉक एक्सचेंज (Karachi Stock Exchange) पर हुए हमले को BLA के मजीद ब्रिगेड (Majeed Brigade) ने अंजाम दिया था और इस हमले में 4 आतंकियों के अलावा 3 सिक्योरिटी गार्ड और एक पुलिस अफसर की मौत हो गयी थी.

पाक की रिपोर्ट (Pakistan's Report) में कहा गया है की इस हमले ने BLA के प्रोफाइल को बढ़ावा दिया है, वहीं उनके मकसद को उजागर करने में कामयाब हुआ है. रिपोर्ट का दावा है कि BLA की मजीद ब्रिगेड का गठन CPEC कॉरिडोर और पाकिस्तान (Pakistan) में चीन के प्रोजेक्ट्स (Chinese Projects) को निशाना बनाने के लिए किया गया है. 2018 नवंबर में BLA के हमलावरों ने कराची (Karachi) में चीन के कॉन्सुलेट (Chinese Consulate) पर हमला किया था, जिसमें तीन हमलावर मारे गए थे, उनमें से एक ने आत्मघाती वेस्ट पहन रखी थी.

कोविड काल में हमलों में तेज़ी आ सकती है
'टेररिज्म इन पाकिस्तान ड्यूरिंग कोविड-19' नाम की रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना काल में BLA मौके का फायदा उठा सकता है, और अपने हमलों में तेज़ी ला सकता है ताकि पाकिस्तान में अस्थिरता और असुरक्षा को बढ़ाया जा सके. कोरोना काल में यानी मार्च से लेकर जून 20 तक बलोच हमलावरों ने 7 हमलों को अंजाम दिया है जिसमें 17 लोगों की जान गई, वहीं 9 लोग ज़ख़्मी हुए हैं. इन हमलों के पीछे बलोच लिबरेशन आर्मी, यूनाइटेड बलोच आर्मी और लश्कर-ए-बलूचिस्तान का हाथ था.
वहीं मार्च से 30 जून तक बलोचिस्तान के हमलावरों ने कुल 10 हमले किए हैं और इनमें से 6 हमलों में पाकिस्तान के सुरक्षाकर्मियों को निशाना बनाया गया. इन हमलों में 18 लोगों की जान गई, वहीं 14 लोग ज़ख़्मी हुए. कोरोना काल में पाक में कुल 74 आतंकवाद से जुड़ी घटनाएं हुई, जिनमें 134 लोग मारे गए, 101 अन्य ज़ख़्मी हुए



रिपोर्ट में भारत पर हमला करने वाले संगठनों का ज़िक्र नहीं
गौरतलब है कि इस रिपोर्ट में तहरीक के तालिबान- पाकिस्तान, BLA, लश्कर ए बलोचिस्तान, सिंधु देश लिबरेशन आर्मी जैसे संगठनों का ज़िक्र तो है, लेकिन भारत को निशाना बनाने वाले लश्कर ए तोइबा, हिजबुल मुजाहिदीन, अल बदर और जैश जैसे संगठनों का कोई जिक्र नहीं जिन्हें पाक में न सिर्फ पनाह मिलती है बल्कि पाला-पोसा भी जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज