पाकिस्तान ने टिंडर समेत पांच डेटिंग ऐप बैन किए, अश्लीलता फैलाने का आरोप

पाकिस्तान ने  टिंडर समेत पांच डेटिंग ऐप बैन किए, अश्लीलता फैलाने का आरोप
पाकिस्तान में टिंडर समेत 5 डेटिंग ऐप्स बैन

Pakistan bans five dating apps: पाकिस्तान सरकार (Pakistan) ने कड़ा कदम उठाते हुए टिंडर (Tinder) समेत 5 डेंटिंग और लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग ऐप्स पर बैन लगा दिया है. इन सभी ऐप्स के खिलाफ समाज में अश्लीलता फैलाने की शिकायतें आयीं थीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 2, 2020, 8:31 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान (Imran Khan) सरकार लगातार गैर-इस्लामिक चीजों पर प्रतिबन्ध लगाने के काम में जुटी हुई है. इसी क्रम में पाकिस्तान के टेलीकम्युनिकेशन अथॉरिटी (पीटीए) ने मंगलवार को टिंडर (Tinder) समेत पांच डेटिंग ऐप और लाइव स्ट्रीमिंग ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है. इन ऐप्स पर आरोप लगा है कि डेटिंग ऐप्स अश्लीलता फैला रहे थे जबकि लाइव स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म पर अश्लील कंटेट दिखाया जा रहा था.

भारत के सुरक्षा की दृष्टि से कई चीनी ऐप्स प्रतिबंधित किये जाने के बाद पाकिस्तान भी लगातार ऐप्स और अन्य प्लेटफॉर्म पर प्रतिबंध लगा रहा है. पीटीए ने एक बयान में कहा कि अनुचित कंटेट को हटाने में विफल रहने के बाद टिंडर, टैग्ड, स्काउट, ग्रांइडर और से हाय के खिलाफ कार्रवाई की गई. ऐप्स को 'डेटिंग सर्विस' और लाइव स्ट्रीमिंग कंटेट को पाकिस्तान के स्थानीय कानूनों के अनुसार हटाने के लिए कहा गया था, लेकिन उन्होंने चेतावनी को नजरअंदाज कर दिया. जांच में पाया गया है कि ये ऐप्स समाज में अश्लीलता फैलाने का काम कर रहे थे. बीती 1 जून को पबजी गेम को भी बैन कर दिया गया था. कहा गया था कि स्टूडेंट्स इसे खेलने में बहुत समय बर्बाद कर रहे हैं .हालांकि जुलाई में बैन हटा लिया गया.



टिक टॉक को भी चेतावनी



पीटीए ने बताया कि इन प्लेटफॉर्म्स से अश्लीलता फैलाने के संबंध में नोटिस देकर जवाब मांगा गया था लेकिन तय समय के भीतर नोटिसों का जवाब नहीं दिया. इसलिए ऐप्स को ब्लॉक करने के आदेश जारी किए गए. हालांकि, पीटीए ने कहा कि अगर कंपनियां देश के कानूनों का पालन करती हैं और अश्लील कंटेट को हटा लेती हैं तो बैन पर फिर से विचार किया जाएगा.

पीटीए अश्लील कंटेट दिखाने के लिए ऐप्स और वेबसाइट्स के खिलाफ कार्रवाई करता रहा है. इन वेबसाइटों के खिलाफ जनता द्वारा की जाने वाली शिकायतों के आधार पर भी कार्रवाई की जाती है. दो महीने पहले ही लाइव स्ट्रीमिंग एप्लिकेशन बिगो पर प्रतिबंध लगाया गया था. वहीं अश्लील कंटेट को लेकर पर वीडियो-शेयरिंग सर्विस टिक-टॉक को भी अंतिम चेतावनी दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज