लाइव टीवी

यूरोपियन थिंक-टैंक ने इमरान खान के UN में दिए भाषण की आलोचना की, कहा- धमकी दे रहे थे इमरान

News18Hindi
Updated: October 5, 2019, 11:51 PM IST
यूरोपियन थिंक-टैंक ने इमरान खान के UN में दिए भाषण की आलोचना की, कहा- धमकी दे रहे थे इमरान
एक यूरोपीय थिंक-टैंक ने इमरान के संयुक्त राष्ट्र में दिए भाषण की आलोचना की है (फाइल फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) के पिछले रवैये की तरह ही पाकिस्तानी पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने एक बार फिर से यह साबित कर दिया है कि वह जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के लोगों के सच्चा दोस्त नहीं हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2019, 11:51 PM IST
  • Share this:
एम्सटर्डम (नीदरलैंड). पाकिस्तान (Pakistan) के पिछले रवैये की तरह ही पाकिस्तानी पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने एक बार फिर से यह साबित कर दिया है कि वह जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के लोगों के सच्चे दोस्त नहीं हैं. वे बस उनके लिए वह धोखा करते हुए विरोध और गुस्से का दिखावा कर रहे हैं. यह बात एक यूपोरियन थिंक टैंक ने पाकिस्तानी पीएम इमरान खान की संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में दिए गए भाषण को लेकर कही हैं.

एम्सटर्डम स्थित यूरोपीय फाउंडेशन फॉर साउथ एशिया स्टडीज (EFSAS) ने कहा है, "संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली में दिए अपने भाषण में उन्होंने (इमरान खान ने) जम्मू-कश्मीर में किसी भी पिछली या भविष्य की गलतियों से अलग किया और बहुत ही बदमाशी के साथ कश्मीरी युवाओं (Kashmir's Youth) को हथियार उठाने के लिए भड़काया, इसके साथ ही वे पूरी दुनिया को एक परमाणु युद्ध (Nuclear Attack) की धमकी भी देते रहे.

कश्मीर के नाम पर पाक की जनता की आंखों  पर पर्दा डाल रहे इमरान
इसमें आगे कहा गया कि एक महत्वपूर्ण पक्ष जो कि इमरान खान (Imran Khan) ने फिर भी नहीं खोला, वह यह है कि किसने उन्हें कश्मीरियों को खून बहने के लिए डराने और उनकी जिंदगियों को खत्म किए जाने का डर दिखाने का अधिकार किसने दिया?

थिंक टैंक ने कहा, अगर इसका उत्तर पाकिस्तानी सेना (Pakistan's Army) है, जो कि इस मामले में लगभग-लगभग सच्चाई है. यह उनके लिए मान लेने का वक्त है कि पाकिस्तानी जनता की आंखों पर कश्मीर का पर्दा डालकर उन्हें मजबूती का दिखावा करने से कुछ नहीं होगा. क्योंकि अब यह भूतकाल की बात हो चुकी है.

पाकिस्तानी आतंक को छिपा इस्लामोफोबिया पर बोलते रहे इमरान
संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली (UNGA) के 74वें अधिवेशन में दिए अपने भाषण में 27 सितंबर को पाकिस्तानी पीएम इमरान खान 50 मिनट बोले थे. इस दौरान उन्होंने भारत के खिलाफ काफी बातें कही थीं. इस दौरान उन्होंने दुनिया के दूसरे बोलने वाले वक्ताओं का भी ख्याल नहीं रखा.
Loading...

थिंक-टैंक ने कहा कि खान ने अपने भाषण के दौरान अच्छा खासा समय इस्लामोफोबिया के लिए पश्चिमी देशों पर आरोप लगाने में खर्च किया था. और लोगों को इस्लाम और उसके मानने वालों के बारे में समझाने की बात कही थी.

यह भी पढ़ें: वर्दी छोड़ बिजनेस लीडर्स के साथ दिखे बाजवा, PAK में तख्तापलट की अटकलें तेज!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2019, 11:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...