• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • ग्रे सूची में पाकिस्तान की स्थिति पर फैसला करेगा एफएटीएफ

ग्रे सूची में पाकिस्तान की स्थिति पर फैसला करेगा एफएटीएफ

वित्तीय कार्रवाई कार्यबल  इस महीने के उत्तरार्द्ध में होने वाली एक डिजिटल बैठक में पाकिस्तान की ग्रे सूची में स्थिति पर फैसला कर सकता है.

वित्तीय कार्रवाई कार्यबल इस महीने के उत्तरार्द्ध में होने वाली एक डिजिटल बैठक में पाकिस्तान की ग्रे सूची में स्थिति पर फैसला कर सकता है.

एफएटीएफ (FATF) की ग्रे सूची से बाहर आने को प्रयासरत पाकिस्तान (Pakistan) ने अगस्त में 88 प्रतिबंधित आतंकी समूहों और उनके नेताओं पर वित्तीय पाबंदियां लगा दी थीं. इनमें 26/11 के मुंबई आतंकी हमलों (Mumbai terrorist attacks) का षड्यंत्रकर्ता और जमात-उद-दावा का सरगना हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मसूद अजहर और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम शामिल हैं.

  • Share this:
    इस्लामाबाद. वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (FATF) इस महीने के उत्तरार्द्ध में होने वाली एक डिजिटल बैठक में पाकिस्तान की ग्रे सूची में स्थिति पर फैसला कर सकता है. पेरिस स्थित वैश्विक धनशोधन और आतंकवाद वित्तपोषण निगरानी संस्था ने जून 2018 में पाकिस्तान को ग्रे सूची में डाल दिया था.

    दूसरी ओर एफएटीएफ ने इस्लामाबाद से 2019 के अंत तक धनशोधन तथा आतंकवाद के वित्तपोषण पर रोकथाम के लिए कार्रवाई की योजना को लागू करने को कहा था. हालांकि, बाद में कोविड-19 महामारी के कारण यह समय-सीमा बढ़ा दी गयी.

    यह भी पढ़ें: बदरीनाथ, केदारनाथ धाम में अब जा सकेंगे हर दिन तीन हजार यात्री

    एफएटीएफ की ग्रे सूची से बाहर आने को प्रयासरत पाकिस्तान ने अगस्त में 88 प्रतिबंधित आतंकी समूहों और उनके नेताओं पर वित्तीय पाबंदियां लगा दी थीं. इनमें 26/11 के मुंबई आतंकी हमलों का षड्यंत्रकर्ता और जमात-उद-दावा का सरगना हाफिज सईद, जैश-ए-मोहम्मद का प्रमुख मसूद अजहर और अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम शामिल हैं.

    एफएटीएफ का डिजिटल पूर्ण सत्र 21 से 23 अक्टूबर तक आयोजित किया जाएगा. जिसमें निर्णय होगा कि पाकिस्तान को धनशोधन तथा आतंकवाद के वित्तपोषण के खिलाफ उसकी लड़ाई पर वैश्विक प्रतिबद्धताओं तथा मानकों को पूरा करने के उसके कार्य प्रदर्शन के आधार पर ग्रे सूची से हटाया जाना चाहिए या नहीं. डॉन न्यूज ने यह खबर प्रकाशित की. पहले यह बैठक जून में होनी थी, लेकिन कोविड-19 महामारी के बाद इस्लामाबाद को इस मामले में राहत मिल गयी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज