लाइव टीवी

भारत के साथ विदेश मंत्री स्तर की बैठक रद्द होना निराशाजनकः पाकिस्तान

भाषा
Updated: October 12, 2018, 10:14 AM IST
भारत के साथ विदेश मंत्री स्तर की बैठक रद्द होना निराशाजनकः पाकिस्तान
(सांकेतिक तस्वीर)

पाकिस्तान ने इस बात पर जोर दिया कि वह भारत के साथ हर तरह की समानता, परस्पर सम्मान और परस्पर फायदे के आधार पर शांतिपूर्ण और अच्छे पड़ोसी वाले संबंध चाहता है.

  • Share this:
पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की न्यूयार्क में होने वाली बैठक भारत द्वारा बहानों के आधार पर रद्द किया जाना निराशाजनक है. पाकिस्तान ने इस बात पर जोर दिया कि वह भारत के साथ हर तरह की समानता, परस्पर सम्मान और परस्पर लाभ के आधार पर शांतिपूर्ण और अच्छे पड़ोसी वाले संबंध चाहता है.

गौरतलब है कि भारत ने पिछले महीने दोनों देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक जम्मू कश्मीर में तीन पुलिसकर्मियों की हत्या और इस्लामाबाद द्वारा कश्मीरी आतंकवादी बुरहान वानी का ‘‘महिमामंडन’’ करते हुए डाक टिकट जारी करने का ज़िक्र करते हुए रद्द कर दी थी.

ये भी पढ़ें- चीन-पाकिस्‍तान का नया भागीदार बना सऊदी अरब, खर्च करेगा 50 अरब डॉलर

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैजल ने यहां साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम किसी भी देश को पर बातचीत करने के लिए दबाव नहीं डाल सकते. भारत पहले तैयार हुआ और 24 घंटे से भी कम समय में अपनी सहमति वापस ले ली.’’ उन्होंने कहा कि आगे का रास्ता केवल बातचीत से निकलेगा.

दोनों देशों के संबंधों में 2016 में पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठनों द्वारा आतंकवादी हमलों और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारत द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक के बाद तनाव आ गया था. फैजल ने कहा कि पाकिस्तान ने हमेशा ही भारत के साथ शांतिपूर्ण और अच्छे पड़ोसी वाले संबंध चाहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने औपचारिक रूप से घोषणा की है कि हम अपने सभी विवादों को हल करने के लिए भारत के साथ बातचीत के लिए तैयार हैं लेकिन जैसा कि आपको पता है कि ताली दो हाथों से बजती है.’’ दोनों मंत्रियों के बीच किसी गुप्त बैठक के बारे में पूछे जाने पर प्रवक्ता ने अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा, ‘‘मुझे किसी गुप्त बैठक के बारे में जानकारी नहीं है.’’

ये भी पढ़ें- अब अफगानिस्‍तान तक जाएगा चीन-पाकिस्‍तान का आर्थिक गलियारासिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर गलियारा खोले जाने के बारे में एक सवाल पर फैजल ने कहा, ‘‘ अगर कोई बातचीत नहीं होगी तो कुछ भी आगे नहीं बढ़ सकता.’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपने भारतीय समकक्ष के एक पत्र का सकारात्मक जवाब दिया. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर, सर क्रीक और सियाचिन मुद्दे सुलझाने के लिए बातचीत को तैयार है.

सार्क सम्मेलन पर फैजल ने कहा कि दक्षेस सम्मेलन पाकिस्तान में कराने के मुद्दे पर भारत को छोड़कर सभी सदस्य देशों का रूख सकारात्मक है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2018, 10:14 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर