• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • पुलवामा हमले पर जरदारी ने इमरान खान को घेरा, पूछा- दुनिया में आपका दोस्त कौन है?

पुलवामा हमले पर जरदारी ने इमरान खान को घेरा, पूछा- दुनिया में आपका दोस्त कौन है?

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी (फाइल फोटो)

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने कहा- 'इमरान खान इम्मैच्योर (अपरिपक्व) हैं. उन्हें नहीं पता कि अंतरराष्ट्रीय राजनीति को कैसे संभालना है. ये सीखने के लिए उन्हें अभी काफी वक्त लगेगा.'

  • Share this:
    पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने पुलवामा आंतकी हमले को लेकर अपने ही मुल्क को घेरा है. जरदारी ने इस हमले को लेकर इमरान सरकार के रवैये पर सवाल खड़े किए हैं. बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि यह बेहद खतरनाक स्थिति है. अगर उनको (भारत को) कोई शक है, तो हमें को-ऑपरेट करना चाहिए. क्योंकि, अंतरराष्ट्रीय अलगाववाद सामने नज़र आ रहा है.'

    भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत! मसूद अजहर को बैन करने के लिए फ्रांस UN में लाएगा प्रस्‍ताव

    जरदारी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की तरफ इशारा करते हुए कहा, 'अगर आपको अंतरराष्ट्रीय अलगाववाद नहीं दिख रहा, तो मैं दिखा देता हूं. मैं आपके एंबसेडर और जानने वालों से पूछता हूं कि आप लोगों में से मुझे अंतराष्ट्रीय स्तर पर बस कोई एक नाम बता दे, जो इमरान खान का दोस्त हो?'

    पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा- 'इमरान खान इम्मैच्योर (अपरिपक्व) हैं. उन्हें नहीं पता कि अंतरराष्ट्रीय राजनीति को कैसे संभालना है. ये सीखने के लिए उन्हें अभी काफी वक्त लगेगा.'


    आसिफ अली जरदारी ने आगे कहा, 'इमरान साहब! आपको सलाह देने वाले लोगों ने अगर कुछ मुस्लिम मुल्कों से आपकी सहायता करवा दी, तो इसे इंटरनेशनल सपोर्ट समझने की भूल न करिएगा.'

    उन्होंने कहा, 'मेरे कार्यकाल के दौरान, 26/11 आतंकी हमला हुआ था. हमने इस मामले को सौहार्दपूर्ण तरीके से संभाला. लेकिन इमरान खान बहुत ज्यादा मैच्योर नहीं हैं. उन्हें नहीं पता कि क्या करना है. वास्तव में वे दूसरों के इशारे पर काम करते हैं. इसलिए देश की स्थिति खराब हो रही है.'

    इमरान खान को भारत ने दिया कड़ा जवाब- नए पाकिस्‍तान में आतंकियों के साथ दिखते हैं मंत्री

    पाक के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा, 'जब 2008 में मुंबई में लश्कर-ए-तैयबा ने हमला किया था, उस वक्त मैं पाकिस्तान का राष्ट्रपति था. हमले के बाद मैंने तत्कालीन अमेरिकी विदेश मंत्री कोंडोलीजा राइस से वादा किया था कि मेरी सरकार मुंबई हमलों में फंसे पाकिस्तानी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी.'

    जरदारी ने साफ तौर पर इमरान खान द्वारा पुलवामा हमले में इस्लामाबाद की भागीदारी से स्पष्ट इनकार करने का विरोध किया है. इस मामले पर दुनिया भर में पाकिस्तान की निंदा की जा रही है. बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज