फ्रांस ने पाकिस्तान से अपने नागरिकों को निकलने की सलाह दी, जानें क्या है वजह...

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (फाइल फोटो)

फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों (फाइल फोटो)

पाकिस्तान (Pakistan) में बढ़ती हिंसा के मद्देनजर फ्रांस (France) ने अपने नागरिकों और कंपनियों को जल्द से जल्द वहां से निकलने की सलाह दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 15, 2021, 3:11 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. बीते साल फ्रांस की एक मैगजीन में छपे पैगंबर मोहम्मद के एक कार्टून को लेकर पाकिस्तान (Pakistan) में बवाल मचा हुआ है. देश की कट्टर इस्लामी पार्टी के समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन (Protest) शुरू किया जिसके बाद छिड़ी खूनी जंग में सात लोगों की मौत हो चुकी है और सैकड़ों घायल हुए हैं. पाकिस्तान में बढ़ती हिंसा के मद्देनजर फ्रांस ने अपने नागरिकों और कंपनियों को जल्द से जल्द वहां से निकलने की सलाह दी है. रॉयटर्स की खबर के मुताबिक, फ्रांस ने अपने नागरिकों और कंपनियों को कहा है कि उन्हें कुछ समय के लिए पाकिस्तान से निकल जाना चाहिए क्योंकि वहां की स्थितियां पेरिस के हितों के लिए खतरा है.

कार्टून को लेकर इमरान सरकार को फ्रांस के राजदूत को वापस भेजे जाने को लेकर कट्टरपंथी इस्लामिक पार्टी तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान ने डेडलाइन दी थी. मगर प्रदर्शन से पहले ही पार्टी के प्रमुख साद हुसैन रिज्वी की गिरफ्तारी ने पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए. इन झड़पों के दौरान सात लोगों की मौत हो चुकी है और 300 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. सड़कों पर लोगों को हुजूम दिख रहा है. सोशल मीडिया पर भी काफी ट्रेंड हो रहा है.

ये भी पढ़ें: पाकिस्‍तान में फ्रांस का विरोध, क्‍या ईद से पहले फ्रांसीसी राजदूत को निकालेगी सरकार!

दरअसल, तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) समर्थकों ने पैगंबर मोहम्मद का कार्टून प्रकाशित करने के लिये फ्रांस के राजदूत को निष्कासित करने के वास्ते इमरान खान सरकार को 20 अप्रैल तक का समय दिया था, किंतु उससे पहले ही पुलिस ने सोमवार को पार्टी के प्रमुख साद हुसैन रिज्वी को गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद टीएलपी ने देशव्यापी विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज