अब फ्रांस से पाकिस्तान को झटका, कहा 'कश्मीर अंतरराष्ट्रीय मसला नहीं'

पाकिस्तान (Pakistan) को एक और झटका लगा है क्योंकि फ्रांस (France) ने कहा कि कश्मीर (Kashmir), भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मामला (Bilateral Issue) है.

News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 10:23 PM IST
अब फ्रांस से पाकिस्तान को झटका, कहा 'कश्मीर अंतरराष्ट्रीय मसला नहीं'
अब फ्रांस से भी पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी है (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 21, 2019, 10:23 PM IST
फ्रांस (France) ने कहा कि कश्मीर (Kashmir) भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मामला (Bilateral Issue) है और दोनों ही पक्षों को राजनीतिक वार्ता से मतभेदों को सुलझाना चाहिए और तनाव बढ़ाने वाला कोई भी कदम उठाने से बचना चाहिए.

फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां येव्स ले द्रियां की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब पाकिस्तान के उनके समकक्ष शाह महमूद कुरैशी ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) का विशेष दर्जा (Special Status) समाप्त करने के भारत के कदम के बाद कश्मीर के हालात पर उनसे मंगलवार को चर्चा की.

फ्रांस ने दोनों ही पक्षों से तनाव कम करने की अपील की
फ्रांस के विदेश मंत्रालय (Ministry of Foreign Affairs) ने मंगलवार को एक बयान में बताया कि द्रियां ने कहा कि इस मामले में फ्रांस का रुख यही रहा है कि यह दो देशों के बीच का मामला है और राजनीतिक वार्ता से इसको सुलझाया जाए ताकि शांति स्थापित हो सके. फ्रांस ने संबंधित पक्षों से तनाव कम करने की अपील की है.

इस महीने की शुरुआत में भारत ने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 (Article 370) के ज्यादातर प्रावधानों को खत्म कर दिया, जिसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया.

सऊदी अरब जैसे पुराने सहयोगियों ने भी नहीं दिया पाकिस्तान का साथ
इससे पहले सऊदी अरब ने भी पाकिस्तान के साथ इस मुद्दे पर सहानुभूति नहीं दिखाई थी बल्कि भारतीय कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ 15 बिलियन डॉलर की डील करके इस्लामाबाद के घावों पर नमक छिड़कने का काम भी किया है.
Loading...

प्रधानमंत्री मोदी भी इस हफ्ते के आखिरी में संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) और बहरीन (Bahrain) जैसे मुस्लिम देशों की यात्रा पर जाने वाले हैं. माना जा रहा है कि इसका असर भी कश्मीर पर इन देशों के रुख पर जरूर पड़ा होगा. पीएम मोदी फ्रांस के साथ पेरिस में होने वाली बातचीत के बाद लौटते हुए इन देशों में रुकेंगे. इससे पहले वह फ्रांस के बियारिट्ज में G-7 समिट में हिस्सा लेंगे. जहां वह फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रां के विशेष अतिथि के तौर पर रहेंगे. दरअसल माना तो यह भी जा रहा है कि यहां अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के साथ भी उनकी विभिन्न मुद्दों पर अनौपचारिक बातचीत होगी.

भारत की अंतरराष्ट्रीय मजबूती रही पाकिस्तान के दरकिनार होने की वजह
भारत के ऐसे बड़े स्तर पर अंतरराष्ट्रीय दोस्ताने ने (खासकर खाड़ी और मुस्लिम देशों के साथ) पाकिस्तान के कश्मीर पर किए जा रहे प्रयासों को निष्क्रिय कर दिया है. साथ ही पाकिस्तान की ओर से पीएम मोदी की छवि को इस्लामोफोबिक बताने के झूठ की पोल भी खोल दी है. बल्कि यूएई (UAE) में पीएम मोदी को ऑर्डर ऑफ जाएद से भी सम्मानित किया जाना है, जो वहां का सबसे बड़ा सम्मान है. इसकी घोषणा इसी साल अप्रैल में की गई थी. पीएम मोदी को यह सम्मान दोनों देशों के रिश्तों में नई ऊचाइयां देने के लिए दिया जाना है. यह अवॉर्ड शेख जाएद बिन सुल्तान अल नह्यान के नाम पर दिया जाता है.

(भाषा के इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: पाक को झटका देने की तैयारी में भारत, रोकेगा 3 नदियों का पानी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 21, 2019, 9:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...