Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    ठंड के मौसम में कोविड-19 के मामले बढ़ने की आशंका से ठिठुरी पाकिस्तान सरकार

    पीएम इमरान खान ने आशंका जाहिर की है कि पाकिस्तान में ठंड के मौसम कोरोना के मामले बढ़ेंगे.
    पीएम इमरान खान ने आशंका जाहिर की है कि पाकिस्तान में ठंड के मौसम कोरोना के मामले बढ़ेंगे.

    पाकिस्तान में Covid-19 के तीन लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं. पीएम इमरान खान (Imran Khan) को इस बात की आशंका है कि सर्दियों में कोरोना वायरस का संक्रमण की दूसरी लहर की शुरूआत हो सकती है.

    • Share this:
    इस्लामाबाद. पाकिस्तान में कोविड-19 के तीन लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं और पिछले 24 घंटे में देश भर से 467 मामले सामने आए हैं लेकिन अधिकारियों को इस बात की आशंका है कि सर्दियों के मौसम में कोरोना वायरस का संक्रमण की दूसरी लहर की शुरूआत हो सकती है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार संक्रमण के कुल 3,15,727 मामलों में से 3,00,616 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घ्ंटे में देश भर से 467 मामले सामने आए हैं.

    पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने जताई थी आशंका

    पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को कहा था कि आगामी जाड़े के मौसम में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं. मंत्रालय ने कहा कि पिछले एक दिन में कम से कम छह मरीजों की मौत हो गई जिसके बाद इस महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़कर 6,523 हो गई. वर्तमान में कोविड-19 के 8,588 मरीज उपचाराधीन हैं. इस बीच पंजाब प्रांत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या एक लाख के पार चली गई.



    ये भी पढ़ें:  जापान के पीएम ने कहा, चीन की हठधर्मिता को रोकना कोरोना महामारी से ज्यादा अहम
    पाकिस्तान सेना ने आतंकवाद के खिलाफ छेड़ा अभियान, 7 दिन में दो को मार गिराया

    US: चोरी कर eBay पर सामान बेचती थी बुढ़िया, भारी जुर्माने के साथ हुई जेल

    अब तक सिंध में 1,38,193, पंजाब में 1,00,033, खैबर पख्तूनख्वा में 38,105, इस्लामाबाद में 16,845, बलूचिस्तान में 15,420, गिलगित बल्तिस्तान में 3,857 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 2,874 मामले सामने आ चुके हैं.

    महंगाई की मार भी झेल रहा है पाकिस्तान

    पाकिस्तान आर्थिक तंगी के दलदल में धंसता जा रहा है. पाकिस्तान की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पाकिस्तान में भ्रष्टाचार और अर्थव्यवस्था की बदहाली के चलते लोगों में सरकार के खिलाफ गुस्सा बढ़ रहा है. अर्थव्यवस्था की बदहाली के चलते पाकिस्तान में बेरोजगारों की संख्या में इजाफा हो रहा है. जीवन जीने के लिए अनिवार्य वस्तुओं की कीमतें आसमान छूने लगी हैं. इस समय पाकिस्तान की गरीबी पर गेहूं की मार बहुत ज्यादा पड़ रही है. आलम यह है कि वहां एक किलो गेहूं की कीमत 60 रुपये तक पहुंच चुकी है. पाकिस्तान मीडिया में छपी खबरों के अनुसार, इस समय 40 किलो के गेहूं के बोरे की कीमत 2400 रुपये है. इस समय देश में सब्जियों के भाव भी सातवें आसमान पर है. सितंबर 2020 में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 9% रहा.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज