• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • इन 'टर्म्स एंड कंडीशन' के साथ कुलभूषण जाधव को कांसुलर एक्सेस देगा पाकिस्तान

इन 'टर्म्स एंड कंडीशन' के साथ कुलभूषण जाधव को कांसुलर एक्सेस देगा पाकिस्तान

विदेश मंत्रालय ने  कहा कि 'कूटनीतिक चैनलों के माध्यम से हम पाकिस्तान को जवाब देंगे.'

विदेश मंत्रालय ने कहा कि 'कूटनीतिक चैनलों के माध्यम से हम पाकिस्तान को जवाब देंगे.'

पाकिस्तान का दावा है कि उसके सुरक्षा बलों ने जाधव को 3 मार्च, 2016 को ईरान से कथित तौर पर घुसने के बाद बलूचिस्तान प्रांत से गिरफ्तार किया था.

  • Share this:
    पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पड़ोसी मुल्क ने कांसुलर एक्सेस तो देने की बात कर दी, लेकिन वह एक बार फिर नापाक चाल की कोशिश में है. भारतीय अधिकारियों से जाधव की मुलाकात के लिए पाकिस्तान ने कुछ 'टर्म्स एंड कंडीशन' यानी शर्तें तय की हैं. पाकिस्तान ने कहा है कि वह शुक्रवार शाम 3.30 बजे भारतीय अधिकारियों को जाधव से मिलने की अनुमति देगा.

    इंटरनेशल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) के फैसले के बाद जाधव को कांसुलर एक्सेस देने की बात पर तैयार हुए पाकिस्तान ने शर्त रखी है. पाकिस्तान ने कहा है कि जब जाधव की मुलाकात भारतीय अधिकारियों से होगी तो वह इसे रिकॉर्ड करेगा. पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा था कि वह जाधव को राजनयिक पहुंच (कांसुलर एक्सेस) देगा.

    समाचार एजेंसी पीटीई के अनुसार पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसले ने गुरुवार को कहता था, ‘यहां भारतीय उच्चायोग को सूचित करने के बाद पाकिस्तान भारत के जवाब का इंतजार कर रहा है.’

    वहीं, नई दिल्ली में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान ने जाधव के कांसुलर एक्सेस के संबंध में प्रस्ताव भेजा है. उन्होंने कहा, 'कूटनीतिक चैनलों के माध्यम से हम पाकिस्तान को जवाब देंगे.'

    यह भी पढ़ें: जाधव को लाहौर से बाहर अज्ञात जगह ले जाया गया: खुफिया सूत्र

    क्या हैं पाकिस्तान की शर्तें
    पाकिस्तान का कहना है कि जिस कमरे में जाधव और भारतीय अधिकारियों की मुलाकात होगी वहां एक पाकिस्तान अधिकारी भी मौजूद होगा. इसके साथ ही कमरे में सीसीटीवी भी होगा. पाक ने कहा है कि कमरे में हो रही बातचीत को भी रिकॉर्ड किया जाएगा.

    पाकिस्तान की शर्त है कि भारत की ओर से केवल एक ही अधिकारी को मुलाकात की इजाज़त मिलेगी.

    पाकिस्तान की इन शर्तों के बाद यह स्पष्ट है कि भारतीय अधिकारियों और जाधव के बीच होने वाली मुलाकात के दौरान कि वे आपस में क्या बातचीत करते हैं वो सब पाकिस्तान के आला-अधिकारी सुनेंगे. पाकिस्तान का कहना है कि उसके कदम वैश्विक मानक और भारतीय कानूनों के अनुसार सही हैं.

    यह भी पढ़ें:  OPINION: कुलभूषण को सज़ा से बचा नहीं पाएगा ICJ का फैसला

    ICJ ने क्या कहा था?
    आईसीजे द्वारा 17 जुलाई को पाकिस्तान को जाधव की सजा और उसकी 'प्रभावी समीक्षा और पुनर्विचार' करने का आदेश देने और बिना किसी देरी के भारत को कांसुलर पहुंच प्रदान करने के दो सप्ताह बाद पाकिस्तान ने कांसुलर एक्सेस देने का प्रस्ताव दिया. अपने 42 पन्नों के फैसले में, ICJ ने फैसला सुनाया था कि पाकिस्तान ने राजनयिक संबंधों पर वियना कन्वेंशन को तोड़ा, जो देशों को उनके नागरिकों को विदेश में गिरफ्तार किए जाने पर कांसुलर एक्सेस का अधिकार देता है.

    यह है मामला
    पाकिस्तान का दावा है कि उसके सुरक्षा बलों ने जाधव को 3 मार्च, 2016 को ईरान से कथित तौर पर घुसने के बाद बलूचिस्तान प्रांत से गिरफ्तार किया था. हालांकि, भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था, जहां नौसेना से सेवानिवृत्त होने के बाद वह व्यापार कर रहे थे.

    (भाषा इनपुट के साथ)

    यह भी पढ़ें:   Kulbhushan Jadhav पर ट्वीट कर पाकिस्तानी एक्ट्रेस हुईं ट्रोल

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज