लाइव टीवी

इमरान की पार्टी के नेता ने हिंदुओं के खिलाफ पाक में लगाए विवादित पोस्टर, आलोचना के बाद मांगी माफी

भाषा
Updated: February 7, 2020, 5:19 PM IST
इमरान की पार्टी के नेता ने हिंदुओं के खिलाफ पाक में लगाए विवादित पोस्टर, आलोचना के बाद मांगी माफी
मियां अकरम उस्मान ने पांच फरवरी को पाकिस्तान में मनाए गए कश्मीर एकता दिवस के संबंध में पोस्टर लगाए थे.

विवादित बैनर में पार्टी के लाहौर के महासचिव उस्मान (Mian Akram Usman) के साथ इमरान खान और पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीरें भी लगी हुईं थीं. सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के घेरे में आने के बाद उस्मान ने माफी मांग ली.

  • Share this:
लाहौर. पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की पार्टी के एक नेता ने पाक में अल्पसंख्यक हिंदुओं के खिलाफ आक्रामक नारे वाले बैनर लगाने पर हुई आलोचनाओं के बाद माफी मांग ली है. सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के लाहौर के एक नेता मियां अकरम उस्मान (Mian Akram Usman) ने पांच फरवरी को पूरे मुल्क में मनाए गए कश्मीर एकता दिवस के संबंध में पोस्टर लगाए थे. उन्होंने पोस्टर में लिखा था, ‘हिंदू बात से नहीं, लात से मानता है.’उस्मान के इस पोस्टर पर उनकी पार्टी के साथ ही देश के कई लोगों ने उनकी आलोचना की थी.

बैनर में पार्टी के लाहौर के महासचिव उस्मान (Mian Akram Usman) के साथ इमरान खान और पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीरें भी लगी हुईं थीं. सोशल मीडिया पर आलोचनाओं के घेरे में आने के बाद उस्मान ने ‘सीमा के दोनों ओर शांतिपूर्ण तरीके से रह रहे सभी हिंदुओं’से टि्वटर पर माफी मांग ली. उस्मान ने डॉन न्यूज टीवी को बताया कि उसने कश्मीर एकता दिवस के संबंध में अपने मुद्रक से ऐसे पोस्टर तैयार करने के लिए कहा था, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले नारे हों.

नेता ने दावा किया कि मुद्रक ने उनके निर्देशों को ‘गलत समझ’लिया और ‘मोदी’शब्द के स्थान पर बैनरों पर ‘हिंदू’लिख दिया. एक टि्वटर यूजर को जवाब देते हुए उस्मान ने कहा कि पोस्टरों को ‘तत्काल’हटा दिया गया है.

कश्‍मीर मुद्दे को बार-बार अलग-अलग मंचों पर उठाता रहा है पाक

पाकिस्‍तान अगस्‍त 2019 में जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 हटाने के बाद से बौखला गया है. सबसे पहले उसने भारत के फैसले का विरोध किया. इसके बाद भारत से राजनयिक संबंधों को घटाना शुरू कर दिया. इस क्रम में उसने पाकिस्‍तान में भारतीय उच्‍चायुक्‍त को नई दिल्‍ली लौटने का फरमान सुना दिया. इसके बाद संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के साथ ही संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में भी इस मुद्दे को उठाया. पाकिस्‍तान ने कश्‍मीर मुद्दे को अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर उठाने की हरसंभव कोशिश की. हालांकि, उसे अपनी हर कोशिश में नाकामी ही हाथ लगी. गृह मंत्रालय का दावा है कि अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने के बाद के 173 दिनों में जम्‍मू-कश्‍मीर में सुरक्षाबलों के जवानों की शहादत का आंकड़ा 73 फीसदी घट गया है.

यह भी पढ़ें...
दुबई में 11 महीने का भारतीय बच्चा रातों-रात बना करोड़पति, 7 करोड़ की लगी लॉटरीकश्मीर पर पाकिस्तान को सऊदी से फिर झटका, नहीं बुलाई जाएगी OIC की बैठक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पाकिस्तान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 5:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर