अफगानी रुपया हुआ पाकिस्तानी मुद्रा से मजबूत, शहबाज शरीफ बोले- इमरान ने कर दिया बर्बाद

शरीफ ने कहा कि 15-20 साल पहले पाकिस्तान भारत के साथ ‘स्वस्थ प्रतिस्पर्धा’ कर था, क्योंकि वह कपड़ा क्षेत्र में अपने पड़ोसी देश से आगे था.

News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 7:57 PM IST
अफगानी रुपया हुआ पाकिस्तानी मुद्रा से मजबूत, शहबाज शरीफ बोले- इमरान ने कर दिया बर्बाद
पाकिस्तान की खराब अर्थव्यवस्था के लिए इमरान खान जिम्मेदार (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 19, 2019, 7:57 PM IST
पाकिस्तान की गिरती अर्थव्यवस्था को लेकर प्रधानमंत्री इमरान खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के प्रमुख और विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने अर्थव्यवस्था की खराब स्थिति को लेकर बुधवार को इमरान खान को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा कि ‘हम भारत के साथ स्वस्थ प्रतिस्पर्धा करते थे.’ लेकिन इसने सब बर्बाद कर दिया.

शहबाज शरीफ ने नेशनल असेंबली में एक हफ्ते के हंगामे के बाद बजट पर चर्चा के दौरान कहा कि खराब नीतियों के कारण अफगानिस्तान और बांग्लादेश जैसे देश कुछ क्षेत्रों में पाकिस्तान से बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं.  उन्होंने कहा कि अफगानी मुद्रा पाकिस्तानी मुद्रा से अधिक मजबूत है. इसके अलावा बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति आय भी हमसे ज्यादा है.

शरीफ ने कहा कि 15-20 साल पहले पाकिस्तान भारत के साथ ‘स्वस्थ प्रतिस्पर्धा’ कर था, क्योंकि वह कपड़ा क्षेत्र में अपने पड़ोसी देश से आगे था. इमरान खान सरकार ने 11 जून को बजट पेश किया था. लेकिन इस पर कोई चर्चा नहीं हो सकी. क्योंकि सत्ता पक्ष के सदस्यों ने हंगामा किया और नेशनल असेंबली में विपक्ष के नेता के संबोधन में व्यवधान डाला.

इमरान सरकार हुई फेल

आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार, जून में खत्म होने वाले वित्तीय वर्ष में पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि दर 3.3 प्रतिशत रहने का अनुमान है, जो कि पाकिस्तान के लक्ष्य जो कि 6.3 प्रतिशत के लक्ष्य से काफी नीचे है. ऐसे में पाकिस्तानी आवाम को नया पाकिस्तान दिखाकर सपने दिखाने वाली इमरान सरकार लगभग सभी सेक्टरों में लक्ष्यों को पूरा करने में पूरी तरह विफल रही है.

ये भी पढ़ें-

बांग्लादेश में पावर प्लांट साइट पर विवाद, एक चीनी नागरिक की मौत, कई घायल
'ब्रह्मास्त्र' की शूटिंग अधूरी छोड़ वाराणसी से मुंबई लौटे रणबीर कपूर और आलिया भट्ट, ये रही वजह
 एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...