पाकिस्तान: मुसीबत में इमरान? विश्वासमत हासिल करने शनिवार को बुलाया नेशनल असेंबली का सत्र

इमरान खान की सरकार पर मंडरा रहा है खतरा. (File pic)

इमरान खान की सरकार पर मंडरा रहा है खतरा. (File pic)

Pakistan Politics: बुधवार को विदेश मंत्री कुरैशी ने घोषणा की थी कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के इस्लामाबाद की सीनेट जनरल सीट हारने के बाद पीएम संसद में विश्वास मत हासिल करेंगे.

  • Share this:
इस्लामाबाद. सीनेट में इस्लामाबाद (Islamabad) की खास सीट हारने के बाद पाकिस्तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) संसद में विश्वास मत हासिल करेंगे. पाकिस्तान के अखबार द डॉन के मुताबिक, सरकार से जानकारी मिली है कि शनिवार को नेशनल असेंबली का सत्र बुलाया गया है. इस दौरान खान विश्वास मत तलाशेंगे. बीते बुधवार को पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mehmood Qureshi) ने कहा था कि संसद में यह साफ करने की जरूरत है कि कौन खान के साथ है और किसे पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी या पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) की तरफ जाना है.

साइंस और टेक्नोलॉजी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने इस बात की जानकारी ट्विटर पर दी है. उन्होंने कहा है कि सत्र शनिवार को दोपहर 12.15 बजे से शुरू होगा. उन्होंने बताया कि सीनेट चेयरमैन के पद के लिए सादिक संजरानी पीटीआई के समर्थन प्राप्त उम्मीदवार होंगे. इसके अलावा खान आज शाम पाकिस्तान के नाम संदेश देने भी आ रहे हैं. द डॉन से बातचीत में पीएम के सलाहकार डॉक्टर बाबर अवान ने कहा कि खान आज 7.30 बजे देश को संबोधित करेंगे.

यह भी पढ़ें: पाकिस्‍तान: इमरान खान को बड़ा झटका, सीनेट चुनाव में गिलानी ने मंत्री हफीज शेख को हराया



बुधवार को विदेश मंत्री कुरैशी ने घोषणा की थी कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के इस्लामाबाद की सीनेट जनरल सीट हारने के बाद पीएम संसद में विश्वास मत हासिल करेंगे. संयुक्त विपक्षी दल के उम्मीदवार युसुफ रजा गिलानी ने पीटीआई के अब्दुल हफीज शेख को हराकर जनरल सीट अपने नाम की थी. चुनाव में गिलानी को जहां 169 मत मिले, वहीं शेख के खाते में 164 वोट आए.

उन्होंने पीटीआई कार्यकर्ताओं से भरोसा रखने की अपील की है कि पार्टी पाकिस्तान डेमोक्रेटिक गठबंधन का मुकाबला करेगी. उन्होंने कहा, 'इस जंग में देश देखेगा कि कौन कहां पर खड़ा है.' साथ ही उन्होंने पीटीआई के मतदाताओं को यह भरोसा दिलाया है कि 'संघर्ष' अभी जारी रहेगा. विदेश मंत्री ने कहा, 'मेरे हिसाब से आज का दिन लोकतंत्र के लिए दुखद है. जो लोग खुद को लोकतंत्र के अगवा होने का दावा करते थे, उन्होंने लोकतंत्र के सिद्धांतों को मार दिया है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज