होम /न्यूज /दुनिया /

पाकिस्तान को अगले पांच साल में यूरोप से भी ज्यादा साफ बना दूंगा: इमरान खान

पाकिस्तान को अगले पांच साल में यूरोप से भी ज्यादा साफ बना दूंगा: इमरान खान

इमरान खान की फाइल फोटो

इमरान खान की फाइल फोटो

इमरान खान ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के लिहाज से पाकिस्तान सातवां सबसे संवेदनशील देश है और लाहौर उन शहरों में शामिल है जहां प्रदूषण का स्तर बहुत अधिक है.

    पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान में सफाई की स्थिति को सुधारने के लिए आधिकारिक तौर पर अभियान की शुरुआत की. इमरान खान ने कसम खाई कि वह देश को यूरोप से भी ज्यादा साफ बनाएंगे.

    रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक खान ने इस्लामाबाद के मॉडल गर्ल्स कॉलेज में 'स्वच्छ और हरित पाकिस्तान' अभियान में भाग लिया और एक पौधा लगाया. इस मौके पर खान ने छात्रों और युवाओं से इस अभियान के अगुआ बनने की अपील की.

    प्रधानमंत्री ने कसम खाई कि वह पांच साल में देश को यूरोप से अधिक साफ बना देंगे. उन्होंने कहा कि इस अभियान की सफलता के लिए जरूरी है कि हम अपनी सोच में भी बदलाव लाएं. इमरान ने इस ओर भी ध्यान दिलाया कि पर्यावरण के संरक्षण और धरती के बढ़ते तापमान से निपटने के लिए ये जरूरी है कि पेड़ लगाए जाएं.

    ये भी पढ़ें- पाक लौटने पर हिरासत में ली गईं पुरस्कार विजेता महिला अधिकार कार्यकर्ता

    खान ने कहा कि ग्लोबल वार्मिंग के लिहाज से पाकिस्तान सातवां सबसे संवेदनशील देश है और लाहौर उन शहरों में शामिल है जहां प्रदूषण का स्तर बहुत अधिक है. उन्होंने दावा किया कि उनकी पार्टी की सरकार ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में अरबों पौधे लगाए हैं. प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने देशभर में 10 अरब पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है जिससे मौसम में बदलाव होगा.

    खान ने कहा कि स्वच्छता अभियान के तहत मल-प्रवाह और स्वच्छता प्रणालियों को न सिर्फ शहरों बल्कि बस्तियों और गांवों में भी में सुधारा जाएगा. उन्होंने कहा कि ठोस कचरे के निस्तारण के लिए गांव से लेकर तहसील स्तर तक कूड़ा डालने के स्थानों की पहचान की जाएगी. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को साफ और हरा-भरा बनाने के लिए छात्रों के प्रयास की जरूरत है.

    ये भी पढ़ें- सिद्धू ने फिर दिखाया PAK प्रेम, कहा- बाजवा को झप्पी के साथ देनी चाहिए थी पप्पी

    Tags: Global warming, Imran khan, Lahore, Pakistan, Pakistan government, Protest against tree-cutting, World environment day

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर