• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • करतारपुर पर इमरान के ट्वीट ने किया कन्फ्यूज, भारत की लिस्ट पर नहीं दिया जवाब

करतारपुर पर इमरान के ट्वीट ने किया कन्फ्यूज, भारत की लिस्ट पर नहीं दिया जवाब

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होगा.  इस दिन भारत और पाकिस्‍तान दोनों ओर कार्यक्रम होंगे. फोटो.  एएनआई

करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होगा. इस दिन भारत और पाकिस्‍तान दोनों ओर कार्यक्रम होंगे. फोटो. एएनआई

इमरान खान (Imran Khan) ने एक ट्वीट कर लिखा है कि तीर्थयात्रियों के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी. जबकि इससे पहले दोनों देशों के बीच हुए अग्रीमेंट में पासपोर्ट की अनिवार्यता की बात शामिल की गई थी. इमरान के ट्वीट के बाद भी पाक की ओर से समझौते में संशोधन की बात भी नहीं कही गई है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. सिख श्रद्धालु करतारपुर जाने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) का उद्घाटन किया जाना है, लेकिन उससे पहले पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के एक ट्वीट ने भ्रम पैदा कर दिया है. दरअसल इमरान खान का ये ट्वीट पासपोर्ट को लेकर है. इसमें उन्होंने कहा है कि श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं है. इसके अलावा भारत ने उद्घाटन में जाने वाले 'जत्थे' में शामिल नेताओं की लिस्ट पाकिस्तान (Pakistan) को भेजी है, लेकिन पाक की ओर से इस पर अब तक कोई जवाब नहीं आया है.

    एएनआई के सूत्रों के अनुसार, 'पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने एक ट्वीट कर लिखा है कि तीर्थयात्रियों के लिए पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी. जबकि इससे पहले दोनों देशों के बीच हुए अग्रीमेंट में पासपोर्ट की अनिवार्यता की बात शामिल की गई थी. इमरान के ट्वीट के बाद भी पाक की ओर से समझौते में संशोधन की बात भी नहीं कही गई है.'





    बता दें कि इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले ट्वीट करते हुए लिखा था, 'भारत की तरफ से तीर्थयात्रा के लिए आ रहे सिखों के लिए मैंने दो जरूरी चीजें माफ कर दी हैं. पहली उन्हें पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी- सिर्फ वैध आईडी दिखानी होगी. दूसरी, उन्हें 10 दिन पहले रजिस्ट्रेशन नहीं कराना होगा. उद्घाटन वाले दिन और गुरुनानक जी की 550वीं जयंती पर उनसे कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा.' इमरान ने ये घोषणा बिना भारत को बताए की है, इससे भ्रम की स्थिति पैदा हो गई.





    सरकारी सूत्रों के अनुसार, सरकार ने मुख्य सिख नेताओं के अलावा जत्थे में जाने वाले दूसरे नेताओं की लिस्ट पाकिस्तान को भेजी है, लेकिन उसकी ओर से कोई भी पुष्टि या जवाब नहीं आया है. सरकार की ओर से पासपोर्ट की घोषणा पर भी कहा गया कि इमरान खान की ओर से इस बारे में कोई ऑफर नहीं मिला है. सरकार के अनुसार, भारत की ओर से जाने वाले जत्थे के कारण भारत अपनी ओर से एक टीम पहले ही करतारपुर भेजना चाहता है, लेकिन पाकिस्तान ने अभी तक इसकी अनुमति नहीं दी है. ये टीम करतारपुर में पहले जाकर सभी तरह की तैयारियों का जायजा लेना चाहती है.



    सरकार के अनुसार पाकिस्तान ने इस उद्घाटन समारोह से जुड़ी कोई भी जानकारी अभी तक भारत के साथ शेयर नहीं की है. वह अकेले ही इस समारोह की चीजों को तय करने में लगा है. यहां तक कि करतारपुर में मेडिकल और दूसरी जरूरी चीजों के बारे में भी उसने कोई जानकारी नहीं दी है. बता दें कि भारत-पाकिस्तान दोनों ओर 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन को लेकर कार्यक्रम का आयोजित किया जाएगा. पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कार्यक्रम के लिए पीएम नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को न्योता दिया था. वहीं, पाकिस्तान ने चीफ गेस्ट के रूप में मनमोहन सिंह को बुलाया था, जिस न्योते को उन्होंने खारिज कर दिया.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज