vidhan sabha election 2017

पाक में चल रहा भारत का 'बर्बादी मिशन', मसूद अजहर ने खोला चंदा भंडार

News18India
Updated: July 6, 2016, 12:34 AM IST
पाक में चल रहा भारत का 'बर्बादी मिशन', मसूद अजहर ने खोला चंदा भंडार
पाकिस्तान के कराची शहर से चल रहा है भारत की बर्बादी का एक खास मिशन। 2002 में जो चेहरे कब्र में दफन हो गए थे, वो दोबारा बाहर निकल आए हैं।
News18India
Updated: July 6, 2016, 12:34 AM IST
नई दिल्ली। पाकिस्तान के कराची शहर से चल रहा है भारत की बर्बादी का एक खास मिशन। 2002 में जो चेहरे कब्र में दफन हो गए थे, वो दोबारा बाहर निकल आए हैं। भारत का मोस्ट वॉन्टेड आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया मौलाना मसूद अजहर खुलेआम कराची की एक मस्जिद और एक मशहूर मदरसे के बाहर चंदा भंडार खोल कर बैठ गया है।

अंग्रेजी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस ने एक वीडियो हासिल किया है जिसमें आप देखेंगे लश्कर के वो चेहरे जो भारत में जेहाद छेड़ने के नाम पर, जन्नत पाने के नाम पर खुलेआम लश्कर के लिए चंदा मांग रहे हैं।ये वीडियो साफ दिखाता है कि पाकिस्तान भले ही दुनिया के सामने आतंकवाद से लड़ने की कसमें खाए लेकिन पर्दे के पीछे उसने आतंकवादियों की बाहें थाम रखी हैं। नवाज शरीफ सरकार हो या पाकिस्तानी फौज या खुफिया संगठन आईएसआई  सब लश्कर पर अंधे बने हुए हैं, ताकि ये लश्कर अपनी कंगाली मिटा कर कश्मीर में नए हमले कर सके।

ईद से पहले की चहलपहल  रमजान खत्म होने को है शाम में नमाजियों की भीड़ मस्जिद से निकल रही है और ठीक बाहर दो आवाजें इन लोगों को कैद करने को तैयार हैं  किसी घिसे पिटे टेप की तरह ये दो आवाजें गूंजने लगती हैं दो इंसान हाथों में चादर फैलाए चंदा मांग रहे हैं  साथ में हिंदुस्तान के खिलाफ जहर भी बांट रहे हैं।

खुदा का नाम लेकर मस्जिद से निकलते कुछ लोग झोली में चंद सिक्के डालते हैं तो कुछ कई नोट लेकिन ये आवाज दूर तक उनका पीछा जरूर करती है  साफ है ये लोग सिर्फ पैसा नहीं चाहते ये लोग समर्थन चाहते हैं जेहाद के नाम पर भारत में खूनखराबे का समर्थन, भारतीय फौज पर हमले का समर्थन और जेहाद के नाम पर अमेरिका पर हमले का समर्थन।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने कराची शहर के कई वीडियो हासिल किए हैं इनमें कोई इंसान खुफिया कैमरा लेकर पाकिस्तान में 2002 से ही बैन आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की काली करतूत का पर्दाफाश कर रहा है। आतंकवाद पर पाकिस्तान के दोमुंहेपन का इससे बड़ा सबूत शायद ही कोई मिले।

मस्जिद के बाहर सुनाई दे रही आवाजों में हर मुसलमान को ईमान से जोड़ा जा रहा है  जन्नत का लालच  दिया जा रहा है, क्योंकि जैश कंगाल है, उसकी जेब में पैसे नहीं हैं  लेकिन दिल में भारत से दुश्मनी का भंडार है। भारतीय संसद पर हमले के दोषी मौलाना मसूद अजहर नाम के जहरीले आतंकवादी की चंदा ब्रिगेड कराची की गलियों में मस्जिद के बाहर कुछ इस तरह हाथ फैलाए खड़ी हुर्ई है। हाथ तंग है लेकिन अरमान ऊंची उड़ान भर रहे हैं। ये वीडियो जुमे के रोज यानि शुक्रवार को खींचा गया है।

दो इंसान चादर फैलाए खड़े हैं  आवाज में रौब है, अर्ज भी है और आवाज दूर तक जाए इसकी कोशिश भी है। अब सवाल ये उठता है कि क्या मस्जिद के बाहर जाना सोचा समझा गया कदम है क्या इस्लामाबाद की लाल मस्जिद की तरह पाकिस्तान की दूसरी मस्जिदों में ये दहशतगर्द ठिकाना तलाश रहे हैं?
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर