जानिए, PM मोदी से बात करने के लिए क्यों बेताब हैं PAK पीएम इमरान खान

एससीओ शिखर सम्मेलन से ठीक पहले रूस की एक न्य़ूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा कि वह भारत के साथ बातचीत करके दोनों देशों के बीच विवादों को सुलझाना चाहते हैं.

News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 7:17 PM IST
जानिए, PM मोदी से बात करने के लिए क्यों बेताब हैं PAK पीएम इमरान खान
PM मोदी से बात करने के लिए क्यों बेताब हैं इमरान खान (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: June 13, 2019, 7:17 PM IST
किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में चल रहे शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने कहा कि वह भारत के साथ बातचीत करना चाहते हैं. इमरान खान ने कहा कि वह भारत के साथ विवादों का हल वार्ता के जरिए करना चाहते हैं. इमरान का यह बयान ऐसे समय आया है जब भारत ने किर्गिस्तान में पाकिस्तान के साथ बातचीत करने की अटकलों को खारिज कर दिया है. भारत ने कहा कि बातचीत और आंतकवाद साथ-साथ नहीं चल सकते हैं.

एससीओ शिखर सम्मेलन से ठीक पहले रूस की एक न्य़ूज वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में इमरान खान ने कहा कि वह भारत के साथ बातचीत करके दोनों देशों के बीच विवादों को सुलझाना चाहते हैं. इमरान खान ने कहा कि परमाणु हथियार से संपन्‍न राष्‍ट्रों को अपने विवादों के समाधान के लिए सैन्‍य विकल्‍प को संभावित समाधान के रूप में नहीं देखना चाहिए, बल्कि बातचीत के जरिए हल करना चाहिए.



भारत से सकारात्मक जवाब की उम्मीद

इमरान खान ने कहा कि अब चुनाव खत्म हो गए हैं. हमें उम्मीद है कि हमारे उठाए कदमों पर भारत सकारात्मक जवाब देखा. उन्होंने करतारपुर कॉरिडोर को पाकिस्‍तान की ओर से शानदार पहल बताया और आशा जताई कि भारी बहुमत के साथ दोबारा सत्ता में आए पीएम मोदी इसका इस्‍तेमाल दोनों देशों के बीच मतभेदों और रिश्‍तों को सुधारने में करेंगे. इस दौरान इमरान ने एक बार फिर कश्मीर का राग अलापा. पाक पीएम ने कहा कि यह दोनों देशों के बीच विवाद का मुख्‍य मुद्दा है.

शिखर सम्मेलन में साथ नजर आएंगे मोदी-इमरान

SCO शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी और इमरान खान मंच पर एक साथ नजर आ सकते हैं. इससे पहले इमरान खान ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखकर बातचीत की अपील की थी. लेकिन भारत ने इमरान की चिट्ठी द्वारा की गई अपील को ठुकरा दिया था. जिसमें उन्होंने बातचीत के जरिए मसले सुलझाने की बात कही थी. भारत ने साफ शब्दों कहा था कि आतंक और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकती.

PM मोदी से क्यों बात करना चाहते हैं इमरान
Loading...

दरअसल, पाकिस्तान पर बढ़ते कर्ज के कारण इमरान खान परेशान हैं. इसको कम करने के लिए वह भारत के साथ तनाव को घटाना चाहते हैं. भारत की कूटनीतिक रणनीति के कारण इमरान की मुश्किलें बढ़ी हुई है. इस बात का सकेंत उन्होंने इंटरव्यू में भी दिया. इमरान से जब पूछा गया कि भारत की तरह वह भी रूस के एयर डिफेंस सिस्‍टम S-400 को खरीदने की योजना बना रहे हैं तो उन्होंने कहा, “हम आशा करते हैं कि भारत के साथ हमारा तनाव घटेगा, इससे हमें हथियार खरीदने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी और ये पैसा मानव विकास पर खर्च करने के काम आएगा.”

ये भी पढ़ें-

SCO शिखर सम्मेलन: PAK एयरस्पेस को छोड़ इस रास्ते किर्गिस्तान पहुंचे PM मोदी

पति ने कर दी थी 5 बच्चों की हत्या, पत्नी ने कहा- अब इन्हें माफ़ कर दो...

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...