अपना शहर चुनें

States

पाकिस्तान: मौलाना ने भीड़ को उकसाया था, कहा- जो मंदिर तोड़ते मारा गया वह शहीद होगा; 31 गिरफ्तार

पाकिस्तान हिंदू काउंसिल के सदस्यों ने मंदिर पर हुए हमले के विरोध में प्रदर्शन किया. (AP/PTI photo)
पाकिस्तान हिंदू काउंसिल के सदस्यों ने मंदिर पर हुए हमले के विरोध में प्रदर्शन किया. (AP/PTI photo)

Hindu Temple Attacked: FIR में कहा गया है कि मौलाना मोहम्मद शरीफ ने प्रदर्शन के दौरान भीड़ को मंदिर के बारे में बताया था. इस दौरान मौलाना ने कहा था कि वे टेरी की जमीन पर न हिंदू मंदिर और न ही हिंदुओं को आने की अनुमते देंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 1, 2021, 12:56 PM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) के कारक में हुए हिंदू मंदिर पर हमले के मामले में 31 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. खास बात है कि गिरफ्तार किए लोगों में जमियल उलेमा ए इस्लाम फज्ल के जिला स्तर के नेता भी शामिल हैं. पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबार द डॉन के मुताबिक, पुलिस ने ये गिरफ्तारियां गुरुवार को की हैं. गौरतलब है कि पाकिस्तान में बुधवार को बड़ी संख्या में इक्ट्ठे हुए लोगों ने हिंदू मंदिर को निशाना बनाया था. हमलावरों ने यहां आग लगा दी थी.

पुलिस अधिकारियों ने 'द डॉन' को बताया कि JUI-F के वरिष्ठ नेता रेहमत सलाम खट्टक को भी गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि रहमत को तख्त-ए-नुसरती तहसील के चोकारा इलाके में मौजूद निवास से गिरफ्तार किया गया है. अधिकारियों ने जानकारी दी कि कार्रवाई के दौरान मामले में शामिल लोगों के घरों पर छापामार कार्रवाई की गईं हैं.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तारी से बचने के लिए कई लोग अंडरग्राउंड हो गए हैं. गौरतलब है कि पुलिस ने धार्मिक जगह को नुकसान पहुंचाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, चोरी, आगजनी, शरारत और हमले में शामिल लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. इस एफआईआर में आतंकवाद विरोधी कानून की धारा 7 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है.



द डॉन के मुताबिक, एफआईआर में कहा गया है कि मौलाना मोहम्मद शरीफ ने प्रदर्शन के दौरान भीड़ को मंदिर के बारे में बताया था. इस दौरान मौलाना ने कहा था कि वे टेरी की जमीन पर न हिंदू का मंदिर और न ही हिंदुओं को आने की अनुमती देंगे. कहा गया है कि भाषण के दौरान मौलाना ने 1000-1500 लोगों को समाधी को तोड़ने के लिए कहा था. FIR के अनुसार, मौलाना ने भीड़ से कहा था कि जो भी मंदिर को तोड़ते हुए मारा जाएगा, वह शहीद कहलाएगा.

एफआई के अनुसार, मौलाना के नेतृत्व में करीब 400 लोगों ने समाधी पर हमला किया और आग लगा दी. इतना ही नहीं द डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, हमलावरों ने पुलिस पर भी हमला बोल दिया था वहीं, एफआईआर में कहा गया है कि भीड़ समाधी से कलाकृतियां भी ले गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज